उत्तराखंड में वन्यजीव सुरक्षा के आईटीबीपी और एसएसबी क मदद

उत्तराखंड में वन्यजीव सुरक्षा के आईटीबीपी और एसएसबी क मदद

उत्तराखंड में वन्यजीव सुरक्षा के लेभेरन आब नई रणनीति क तहत काम शुरू हे ग्यो | खासकर उत्तराखंड भे सटी नेपाल सीमा में विशेष फोकस करी ग्यो | वा भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल [ आईटीबीपी ] व सशस्त्र सीमा बल [एसएसबी] क मदद लेई जाली | हाल में हई हाईलेवर इंटर एजेंसी मीटिंग में यो बार इम्मे सहमती बनी | एसे देखते हुए वन महकमेल आईटीबीपी और एसएससबी भे समन्वय स्थापित करनक जिम्मा हल्दवानी क डीएफओ के सौप हया | येक अलावा वन्यजीव में शिकार क लिहाज भे सवेंदनशील क्षेत्र में कुख्यात बावरिया गिरोहों व सपेरो पर नजर राखनक लिजी वन महकमा स्थापित पुलिस क सहयोग लेल

छह राष्टीय उद्धान, सात अभयारण्य और 4 कंजर्वेशन रिजर्व वाल उत्तराखंड में वन्यजीव सुरक्षा के ले भेरन अक्सर सवाल उठते रुमान | पूर्व में उच्च नययालय में ले इम्मे चिंता जताते हुए वन्यजीव सुरक्षा के ठोस एवं प्रभावी कदम उठुनक आदेश दे खरान| एसे देखते हुए आब  संजीदगी भे कदम उठून जमरान | येक कड़ी में हाल में हई हाईलेवल इंटर एजेंसी मीटिंग में वन्यजीव सुरक्षा क लिजी विभिन्न विभागों क भे समन्वय स्थापित करनकनिर्णय लेई ग्यो | इम्मे नेपाल सीमा में निगरानी समेत अन्य जरुरी कदम उठुन में जोर देई ग्यो |

राज्यक मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक जेएस सुहाग क अनुसार नेपाल भे सटी उत्तराखंडक सीमा में आईटीबीपी उ एसएसबी क तैनाती छू | बैठक क लिजी लेई निर्णयक अनुसार महकमा अब सीमा पे वन्यजीव सुरक्षाक लिजी इनेर मदद ले | उनील बता की नेपाल सीमा में आईटीबीपी व एसएसबी भे समन्वय क जिम्मा डीएफओ हल्द्वानी के देई ग्यो | येक अलावा नेपाल सीमा भे सटी ब्रहमदेव मंडी क सर्वे करनक लिजी चम्पावत क डीएफओ क एसएसबी भे समन्वय क लीजी कई ग्यो |

सुहाग में बताई ग्यो की जिन क्षेत्रो में आईटीबीपी क तैनाती छू वा वन्यजीव सुरक्षा में सहयोग क लिजी उम्मे संबंधित जिलोक डीएफओ के ले सम्पर्क करनक निर्देश देई ग्यान | सुहाग क अनुसार बैठक में वन्यजीव अपराधियों क केस कमजोर हुनक अर्थवा साक्ष्य क अभाव में बरी हुनक में तय भ्यो की राष्टीय बाघ  संरक्षण प्राधिकरण [एनटीसीए] द्वारा वनकर्मियो क प्रशीक्षण देई जाल |

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *