उत्तराखंड में सेतु तैयार , आब खुलनक इंतजार छू

तीर्थनगरी में मुनिकीरेती और स्वर्गाश्रम के जोड़नी वाल बहुप्रतीक्षित जानकी सेतु क निर्माण पूर हे ग्यो | लोक निर्माण विभागेल पुलक टेस्टिंग क बाद शेष बची कम ले पुर हे ग्यो | हालाँकि , ऐल पुल के खोलनक दिन निश्चित ने करी खरो , लेकिन उम्मीद छू की राज्यस्थापना दिवस में तीर्थनगरी के जानकी सेतु क सौगात मिल जाली |

गंगा नदी में मुनिकीरेती [ कैलाश गेट ] और स्वर्गाश्रम [ वेद निकेतन ] क बीच जानकारी सेतु क सपना वर्ष 2006 में झुलापुल क रूप में देखी ग्यो छी | तब यो झुलापुल क निर्माण में करीब 3 करोडेक लगत उमरछी येक लिजी तत्कालीन मुखात्मंत्री एनडी तिवारील चार लाख क टोकन मनी ले तैयार कर देई छी | मगर कुछ समय बाद मामला ठंठ पद गछी | बाद में भुवन चन्द्र खंडूडी सरकारेल जानकी सेतु के झूला पुलेक बजाय थ्री – लेन ब्रिज क रूप में तैयार करनक मंजूरी दे और येक लागत ले 33 करोड़ रूपये जा पूची | वर्ष 2014  में 346  मीटर लम्बी व चार मीटर चौड़े यो थ्री – लेन ब्रिज क निर्माण कार्य शुरू भयो जेसे 31 मार्च 2016  तक पूर हुन छी मगर निर्माण एजेंसील रिवाइज बजट ने मिलनते काम के रोकी गछी | जिम्मे पुल फिर दिवि साल तक अधर में रुकी रछी| दिसंबर 2018 में पुनः रिवाइज बजट 48.8 करोड़ मंजूर करनेते पुल के अक्टूबर 2019 तक पूर करनक लक्ष्य राखी छी | हालाँकि , काम करीब 1 सालक विलंब भे पूर हे पा |