बोरसु दर्रा – उत्तराखंड और हिमाचल की अंतिम घाटी (Borasu Pass Uttarkashi)

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको “उत्तराखंड दर्शन” के इस पोस्ट में “बोरसु दर्रा उत्तरकाशी (Borasu Pass Uttarkashi)” उत्तराखंड के बारे में बताने वाले हैं यदि आप जानना चाहते हैं “बोरसु दर्रा  (Borasu Pass Uttarkashi)”  के बारे में तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े|





borasu-pass

बोरसु दर्रा – उत्तराखंड और हिमाचल की अंतिम घाटी के बारे में

बोरसु दर्रा या बारासु समुद्र तल से  लगभग ( 5,450 मीटर तथा 17,880 फीट) ऊँचाई में स्थित हैं  यह भारत में उत्तराखंड के हिमालय पर्वत में एक उच्च पर्वत दर्रा है। यह पास तिब्बत की सीमा के पास उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की सीमा पर स्थित है। यह हर की दून घाटी और किन्नौर घाटी के बीच एक प्राचीन व्यापार मार्ग था।

यह दो घाटियों के बीच एक प्राचीन व्यापार मार्ग माना जाता है। बोरसु दर्रा विभिन्न परिदृश्य प्रदान करता है  यह दर्रा, हिमालय में शायद ही कभी खोजे गए क्षेत्रों में से एक है जो एक उल्लेख के लायक है।

यह दर्रा उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश को विभाजित करता है

बोरसु दर्रा भारत में उत्तराखंड के ऊंचे पहाड़ों में एक दर्रा है जो उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश को विभाजित करता है। इस दर्रे से कुछ किलोमीटर की दूरी पर तिब्बत सीमा है। यह हर की दून घाटी और किन्नौर घाटी के बीच एक व्यापारिक मार्ग था। इस मार्ग की ऊंचाई 5,450 मीटर है जो इसे एक साहसिक बनाती है।

एडवेंचर लवर्स के लिए शानदार

यह दर्रे घास के मैदान, खड़ी लकीरें, बर्फ की ढलान और ग्लेशियर से होकर गुजरती है, यह सब सर्दियों के दौरान बर्फ से ढँक जाता है और मनमोहक लगता है, जो लोग प्रकति की तलाश करते हैं और प्यार करते हैं वे इस ट्रेक को चुनते हैं  यह ट्रेक प्रक्रति प्रेमियों के लिए बेहद सुंदर जगह है





बोरसु दर्रा उत्तराखंड ट्रेक-

बोरसु दर्रा उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की सीमा के पास स्थित है। यह पास केवल बरसात से पहले कुछ महीनों के लिए सार्वजनिक होता है और सर्दियों में इस क्षेत्र में भारी बर्फबारी होती है। बोरसु दर्रा तक पहुँचने के लिए और बोरसु ग्लेशियर से 3-4 दिन लग जाते है।

बोरसु दर्रा ट्रेक गढ़वाल और किन्नौर दोनों के हिमालय की संस्कृतियों का पता लगाने का एक शानदार तरीका है। यह आपको न केवल हिमालय की मनमोहक स्थलाकृति की यात्रा पर ले जाएगा, बल्कि हिमालय के विविध वन्य जीवन के बीच भी ले जाएगा। आपको जंगली सूअर, भारतीय क्रेस्टेड पोरचिइन, येलो थ्रोटेड मार्टेन, कोक्लास तीतर, हिमालयन कठफोड़वा आदि जैसे विशाल स्तनपायी और पक्षी देखने को मिलेंगे। आप उच्च ऊंचाई वाले पर्वतों की चोटियों जैसे कलानाग, स्वर्गारोहिणी I, II, III को भी देख पाएंगे। और कुछ निचली चोटियाँ जैसे हर की डुन, हाटा चोटी आदि। इस क्षेत्र में बहने वाली गहना नीली नदियाँ टोंस, यमुना, सुपिन और बसपा नदी हैं।

यहाँ तक कैसे पहुंचे How To Reach?

यहाँ तक आप आसानी से पहुँच सकते हैं |

हवाई जहाज – निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई  हैं यहाँ से बोरसु दर्रा उत्तरकाशी  की दूरी लगभग 181  किलोमीटर हैं यहाँ से बोरसु दर्रा के लिए टैक्सी आसानी से उपलब्ध हैं|

ट्रेन- निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश रेलवे  स्टेशन  हैं यहाँ से बोरसु दर्रा की दूरी लगभग 171  किलोमीटर हैं यहाँ से बोरसु दर्रा के लिए टैक्सी आसानी से उपलब्ध हैं|

Google Map Of Borasu Pass Uttarkashi






उमीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो इसे like तथा नीचे दिए बटनों द्वारा share जरुर करें|