Devriyatal – A Famous Tal in Rudraprayag !! ( देवरियाताल !! )

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको उत्तराखंड दर्शन की इस पोस्ट में उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित प्रसिद्ध धार्मिक स्थल “ Devriyatal – A Famous Tal in Rudraprayag !! ( देवरियाताल !! ) ” के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है | यदि आप देवरियाताल के बारे में पूरी जानकारी जानना चाहते है , तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े |



Devriyatal – A Famous Tal in Rudraprayag !! ( देवरियाताल !! )

devriyatal-rudraprayagदेवरियाताल उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित एक सुंदर एवम् लोकप्रिय पर्यटन स्थल हैं | यह झील समुन्द्रतल से 2438 मीटर की ऊँचाई चौपटा-उखीमठ रोड से 2 कि.मी. की दुरी पर स्थित है | यह ताल कटोरे के आकार का है , जो कि 400 मीटर लम्बा तथा 700 मीटर चौड़ा हैं | यह एक अद्भुत झील है जो कि हरे-भरे जंगलो से घिरी हुई है | इस झील के जल में गंगोत्री, बद्रीनाथ , केदारनाथ , यमुनोत्री और नीलकंठ की चोटियों के साथ चौखम्बा की श्रेणियों की स्पष्ट छवि प्रतिबिंबित होती है | यह झील गढ़वाल हिमालय की ओरे जाने वाले पर्यटकों के लिए एक खूबसूरत दर्शनीय स्थल हैं | देवरियाताल से प्रकर्ति का बेहद ही खूबसूरत सौंदर्य देखने को नज़र आता हैं | देवरियाताल में आने पर्यटकों को देवरियाताल नौका विहार , काटेबाज़ी और विभिन्न पक्षियों को देखने के अवसर प्रदान करती है | किंवदंतियों के अनुसार देवता इस झील में स्नान करते थे अतः पुराणों में इसे ‘इंद्र सरोवर’ के नाम से उल्लेखित किया गया है। ऋषि-मुनियों का मानना है ‘यक्ष’ जिसने पांडवों से उनके वनवासकाल के दौरान सवाल किए थे और जो पृथ्वी में छुपे हुए प्राकृतिक खजानों और वृक्षों की जड़ों का रखवाला है , इसी झील में रहता था । देवरिया ताल से तुंगनाथ महादेव का पैदल रास्ता ‘पंच केदार’ (भगवान शिव का प्राचीन मंदिर) तक पहुंचने का सुगम पथ है । उखीमठ जो केदानाथ मंदिर समिति का मुख्यालय है, शरदऋतु में केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद हो जाने पर, वहां के रावल और पुजारियों का आवास बन जाता है । यहीं पर लक्ष्मण, मान्धाता और ऊषा के मंदिरों में पूजापाठ के कार्यक्रम होते हैं।

इस ताल के बारे में यह भी कहा जाता है कि इस ताल के निचे सात छोटी-छोटी नदियाँ ताल के ऊपर आती है एवम् इस ताल का पानी आसपास के गाँव और अन्य जगहों में वितरित हो जाता है | इस स्थान पर उषा( बाणासुर की पोती) और अनिरुद्ध(श्री कृष्णा का पोता) जल क्रीडा करने के लिए आया करते थे | देवरियाताल में जन्माष्टमी मेला बड़ी ही धूम धाम के साथ मनाया जाता है | इस स्थान पर जन्माष्टमी मेला इसलिए लगता है क्यूंकि प्राचीन समय में नाग देवता सिर्फ उन्ही को दर्शन देते थे जो कि इस स्थान पर सच्चे मन से आते थे इलसिए परंपरा के अनुसार इस स्थान पर जन्माष्टमी के दिन मेला लगता है |

Google Map of Devriyatal , Rudraprayag !!

देवरिया ताल रूद्रप्रयाग से 49 कि.मी. की दूरी पर स्थित एक सुंदर पर्यटन स्थल है | आप इस स्थान को निचे Google Map में देख सकते है |





उम्मीद करते है कि आपको उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित “ Devriyatal – A Famous Tal in Rudraprayag !! ” के बारे में पढ़कर आनंद आया होगा |

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमारे फेसबुक पेज को LIKE और SHARE  जरुर करे |

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे मे जानकारी प्राप्त के लिए हमारा YOUTUBE  CHANNEL जरुर   SUBSCRIBE करे |