गांधी सरोवर केदारनाथ  “Gandhi Sarovar kedarnath” Rudraprayag

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको “उत्तराखंड दर्शन” के पोस्ट में “गाँधी सरोवर Gandhi Sarovar” के बारे में बताने वाले है यदि आप जानना चाहते हैं “गाँधी सरोवर  Gandhi Sarovar” के बारे में तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े |





gandhi-sarovar

गांधी सरोवर के बारे में About Gandhi Sarovar

गांधी सरोवर क्रिस्टल क्लियर वाटर रखने वाली एक छोटी झील है। गांधी सरोवर को चोरबारी ताल के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यह चोरबारी ग्लेशियर पर स्थित है। गांधी सरोवर समुद्र तल से 3,900 मीटर की ऊँचाई पर केदारनाथ और कीर्ति स्तम्भ की चोटी पर स्थित है। गांधी सरोवर यात्रियों को हिमालयी चोटियों के भव्य दृश्यों के साथ आशीर्वाद देता है। गांधी सरोवर में सुबह-सुबह जाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इस क्षेत्र का मौसम तेजी से बदलता है।





केदारनाथ से 14 किमी की ट्रेक कुंवारी देवदार और ओक के जंगल और सुरम्य झरनों के माध्यम से जाती है। 3 किमी ट्रेक केदारनाथ के लोहे के पुल से शुरू होता है और गांधी सरोवर पर समाप्त होता है।

गांधी सरोवर में कोई आवास विकल्प उपलब्ध नहीं हैं। गांधी सरोवर मार्ग के अंतिम स्थान पर केदारनाथ है। केदारनाथ में विभिन्न प्रकार के आवास विकल्प उपलब्ध हैं|

केदार नाथ धाम –

भगवान शिव को समर्पित, केदारनाथ उत्तर भारत के सबसे पवित्र मंदिरों में से एक है। केदारनाथ शहर पास के क्षेत्र में आवास का अंतिम बिंदु भी है। उत्तराखण्ड में हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मन्दिर बारह ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है |

यह उत्तराखंड का सबसे विशाल शिव मंदिर है, जो कटवां पत्थरों के विशाल शिलाखंडों को जोड़कर बनाया गया है। ये शिलाखंड भूरे रंग की हैं। मंदिर लगभग 6 फुट ऊंचे चबूतरे पर बना है। इसका गर्भगृह प्राचीन है जिसे 80वीं शताब्दी के लगभग का माना जाता है ।

केदारनाथ धाम और मंदिर तीन तरफ पहाड़ों से घिरा है। एक तरफ है करीब 22 हजार फुट ऊंचा केदारनाथ, दूसरी तरफ है 21 हजार 600 फुट ऊंचा खर्चकुंड और तीसरी तरफ है 22 हजार 700 फुट ऊंचा भरतकुंड हैं |

केदारनाथ मंदिर के दर्शन  –

केदारनाथ में आप भगवान भोले के साथ -साथ   शंकराचार्य जी की  समाधि के दर्शन भी कर सकते  हैं   यह स्थान काफी दिलचस्प हैं।  यहां सरोवर ताल के साथ  एक और झील वासुकी ताल है- जो केदारनाथ से 6 किलोमीटर की दूरी तय कर पहुंच सकते है। वापस यात्रा करते समय आप त्रिवुगीनारायण की यात्रा कर सकते हैं।

गांधी सरोवर केदारनाथ में स्थित है (केदारनाथ मंदिर से आगे 4kms ट्रेक पर आने के बाद यह झील आती है। रोड हेड से यह 20kms की पैदल यात्रा तय करके यह सरोवर आता है|





यहाँ तक कैसे पहुंचे How To Reach?

ऋषिकेश से गौरीकुंड के लिए बसें और टैक्सी उपलब्ध हैं। गांधी सरोवर तक पहुँचने के लिए लगभग 17 किलोमीटर की दूरी पैदल ही पूरी करनी होगी। गौरीकुंड से पोनी और पालकी उपलब्ध हैं। गौरीकुंड से गांधी सरोवर तक का ट्रैकिंग मार्ग आसान है। गांधी सरोवर, केदारनाथ से 3 किलोमीटर दूर स्थित है।

Google Map Of Gandhi Sarovar Rudraprayag






उमीद करते है आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो इसे like तथा नीचे दिए बटनों द्वारा share जरुर करें|