गोरसों बुग्याल चमोली गढ़वाल Gorson Bugyal Chamoli Garhwal(Uttarakhand)

नमस्कार दोस्तों,आज हम आपको “उत्तराखंड दर्शन” के इस पोस्ट में “चमोली गढ़वाल में स्थित गोरसों बुग्याल″( Gorson Bugyal) के बारे में बताने वाले हैं यदि आप जानना चाहते हैं| “गोरसों बुग्याल (Gorson Bugyal)” के बारे में  टगो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े|





gorson-bugyal

गोरसों बुग्याल के बारे में About Gorson Bugyal –

गोरसों बुग्याल (गोरसो बुग्याल) औली से सिर्फ 3 किलोमीटर की दूरी पर तथा समुद्रतल से लगभग  3056 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह हरे भरे चरागाहों का एक बड़ा भूभाग है जो शंकुधारी वन और ओक के पेड़ों से घिरा हुआ है। आप छत्रकुंड की ओर भी ट्रेक कर सकते हैं, जो गुरसो बुग्याल से सिर्फ 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। छत्तरकुंड अपने मीठे पानी के लिए प्रसिद्ध है और घने जंगल के बीच में स्थित है। एशिया के सबसे लंबे और सबसे ऊँचे रोपवे पर सवार होकर, दुनिया की कुछ सबसे बड़ी चोटियों के दृश्य का आनंद ले सकते हैं, स्थानीय लोगों और मवेशियों के लिए ये चारागाह का काम करते  हैं तो यात्रिओं और ट्रैकिंग के शौकीनों के लिए घुमने की जगह व कैम्पसाइट का काम करते हैं।  यह गढ़वाल में अब तक के सबसे रोमांचकारी ट्रेकिंग ट्रेल्स में से एक है

औली गोरसों बुग्याल ट्रेक,

ऋषिकेश से ट्रेक शुरू होता है; उसके बाद ट्रेकर्स औली तक एक रोपवे पर सवारी करेंगे। एक बार ट्रेकर्स औली पहुंचने के बाद, वे गोरसों बुग्याल की ट्रेकिंग शुरू कर देंगे। ट्रेक का सबसे अद्भुत हिस्सा नंदादेवी पर्वत हैं| यहाँ से हिमालय के पहाड़ों का एक सुंदर दृश्य पूरे रास्ते में ट्रेकर्स को दिखाई देगा| बड़ी संख्या में पर्यटक ग्रीष्मकाल और सर्दियों दोनों में इस रमणीय स्थल की यात्रा करते हैं।

औली गोरसों बुग्याल जाने वाले ट्रेकर्स के लिए एक रोमांचक अनुभव हो सकता है| गोरसों बुग्याल के साथ-साथ  नंदादेवी शिखर, हाथी-घोड़ा चोटी, द्रोणागिरि चोटी, चौखम्बा चोटी जैसी शानदार चोटियों के दर्शन करना हरे-भरे औली गोरसों बुग्याल से चलकर प्रकृति की महानता का अनुभव करे तथा भागीरथी और अलकनंदा के संगम के लिए जाना जाने वाला एक पवित्र स्थान देवप्रयाग में पवित्र स्नान करें|

 गोरसों बुग्याल जाने का सबसे अच्छा समय-






औली गोर्सन बुग्याल ट्रेक की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय ग्रीष्मकाल (अप्रैल – मध्य जून) और सर्दियाँ (अक्टूबर – दिसंबर) हैं|

मानसून में:

वर्षा ट्रेक की सुंदरता को बढ़ाती है। जंगल और घास के मैदान हरे-भरे हो जाते हैं, और फूलों की संख्या बढ़ जाती है। मौसम मध्यम और सुखद रहता है। ट्रेकिंग के लिए जाने का अच्छा समय नहीं है, भूस्खलन के कारण सड़कें अवरुद्ध रहती हैं।

सर्दियों में:

सर्दियों के मौसम में औली में भारी बर्फबारी होती है। सर्दियों के महीनों के दौरान, परिदृश्य सुंदर दिखते हैं, पहाड़ बर्फ के एक कंबल से ढके रहते हैं, तब यह जगह मिनी स्विट्जरलैंड जैसी दिखती हैं।

औली-गोरसों बुग्याल कहाँ है?

उत्तराखंड क्षेत्र के सबसे सुंदर स्थानों में से एक, औली गोरसों बुग्याल, एक ऊंचा चारागाह है, जो 2,500–3,500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह ट्रेकर्स के लिए एक लोकप्रिय स्थान है और वसंत ऋतु के दौरान, यहां आसपास के इलाकों में कई प्रकार के वाइल्डफ्लावर देखे जा सकते हैं। तेजस्वी खेतों से, नंदा देवी पर्वत लगभग (7817 मीटर), तथा दुनागिरी पर्वत लगभग (7066 मीटर), हाथी पर्वत (6727 मीटर), बेथरटोली जैसे शक्तिशाली पहाड़ों का दृश्य देख सकते हैं। दूसरी ओर शंकुधारी, ओक और देवदार के घने जंगल, घास के मैदानों को देख सकते हैं|

यहाँ तक कैसे पहुंचे How To Reach?






यहाँ तक आप आसानी से पहुँच सकते हैं|

हवाई जहाज- निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट में हैं यहाँ से (अली) गोरसों बुग्याल की दुरी लगभग 285 किलोमीटर हैं | यहाँ से आगे आप बस अथवा टैक्सी से आसानी से जा सकते हैं |

ट्रेन आप ऋषिकेश या कोटद्वार तक ट्रेन से आ सकते है। वहा से आप बस अथवा टैक्सी से आसानी  (अली) गोरसों बुग्याल  (चमोली गढ़वाल ) पहुच सकते है। ऋषिकेश से अली बुग्याल  की दूरी 268 किलो मीटर है।

GORSON BUGYAL CHAMOLI IN 360 DEGREE










GOOGLE MAP OF GORSON BUGYAL CHAMOLI GARHWAL

उमीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो इसे like तथा नीचे दिए बटनों द्वारा share जरुर करें|

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे मे जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारा YOUTUBE  CHANNEL जरुर   SUBSCRIBE करे |