नैनीताल से हाईकोर्ट शिफ्टिंग के लिए 70 प्रतिशत सुझाव

70 Percent Suggestion for High Court Shifting from ‘Nainital’





high-courthigh-court

70 प्रतिशत लोगों ने की हाई कोर्ट शिफ्टिंग की मांग






नैनीताल हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की ओर से कोर्ट को नैनीताल से अन्यत्र शिफ्ट करने को लेकर मांगे गए सुझाव से संबंधित नतीजे सामने आने लगे हैं | हाई कोर्ट को ओर से वेबसाइट पर सुझाव मांगे गए थे| वहीँ हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने हाई कोर्ट को किसी भी कीमत पर शिफ्ट नही होने देने का प्रस्ताव पारित किया हैं|

मांगे गए थे सुझाव






80 प्रतिशत लोग रानीबाग में स्थापित करने के पक्ष में

 

पूर्व में नैनीताल व् अब हल्द्वानी रह रहे वरिष्ट अधिवक्ता एमसी कांडपाल ने हाई कोर्ट को शिफ्ट करने की मांग को लेकर 2017 में प्रत्यावेदन दिया था| करीब दो माह पहले हाई कोर्ट की ओर से इस मामले में सुझाव मांगे गए तो अधिवक्ता भड़क गए| बार एसोसिएशन की आमसभा ने सर्वसम्मति से जबकि जिला बार एसोसिएशन की आमसभा ने बहुमत से हाई कोर्ट को नैनीताल से अन्यत्र शिफ्ट करने के विरोध में प्रस्ताव पारित किया था| हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष व् दो बार के सांसद डॉ. महेंद्र पाल ने तो बाकायदा हाई कोर्ट शिफ्ट करने के मामले को सरकार की साजिश करार देते हुए पहले राज्य की स्थायी राजधानी गैरसैण घोषित करने की मांग की|

अब इस मामले को लेकर हाई कोर्ट की वेबसाइट आए सुझाव सार्वजानिक किय गए हैं| इसमें 70 फीसदी सुझाव नैनीताल से हाई कोर्ट को शिफ्ट करने के पक्ष में आया हैं| शिफ्टिंग के पक्ष वाले कुल सुझाव में से 80 फीसदी से अधिक ने रानीबाग H.M.T परिसर में शिफ्ट करने का सुझाव दिया हैं|  बताया क्जता हैं कि सुझाव देने वाले तमाम लोग ऐसे भी है,जिनके द्वारा एक नही पांच से अधिक बार भी हाई कोर्ट की शिफ्ट करते के पक्ष में सुझाव दिया हैं|इस लिए यह तय करना मुश्कल हो रहा है कितने प्रतिशत हाई कोर्ट शिफ्टिंग के पक्ष में व् कितने विरोध में सुझाव आए हैं|

उमीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो इसे like तथा नीचे दिए बटनों द्वारा share जरुर करें|