Pancheshwar Dam Hydro Project Uttarakhand its History, Benefits and Consequences

,

Pancheshwar Dam Uttarakhand | Location | History | Benefits | Disadvantages

इस पोस्ट के माध्यम से पंचेश्वर डैम (Pancheshwar Dam) के बारे में आपको बताएँगे जो काफी लम्बे समय से विवादों में है|

हाल ही में भारत और नेपाल सरकार के बीच सहमति बन गयी है और कहा जा रहा है की Pancheshwar Dam का काम 2018 से शुरू हो जायेगा|

(Pancheshwar Dam in Uttarakhand)

पंचेश्वर बाँध उत्तराखंड

Representational image

Pancheshwar dam is proposed to be built at the confluence of – Saryu and Kali Rivers of Uttarakhand

About Pancheshwar dam

Pancheshwar dam on the Mahakali river:

पचेश्वर डैम (Pancheshwar Dam) उत्तराखंड के चम्पावत जिले में काली-सरयू नदी (Mahakali-Saryu River) के संगम में बनने वाला एक Multipurpose Dam Project है|

यह एक Hydroelectric Power Project (जल-विदुतीय परियोजना) है |

Pancheshwar dam India और Nepal के सहयोग से बनने जा रहा है| इस hydroelectric project से 6480 MW (mega-watt) बिजली का उत्पादन किया जायेगा|

Cost of Pancheshwar Dam Project 

Project का काम 2018 से शुर होना प्रस्तावित है, 2026 तक काम पूरा होगा और 2028 से इसे काम में लाया जायेगा| इस project की कुल लागत (cost) 20,000 करोड़ से अधिक बताई जा रही है|

Pancheshwar Dam Map / Pancheshwar dam location

Effects of Pancheshwar Dam Project

Pancheshwar Project से उत्तराखंड के 3 जिले – चम्पावत, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा और नेपाल का महाकाली क्षेत्र (Mahakali Basin) प्रभावित होगा|

Pancheshwar Dam के साथ दो छोटे Dam भी बनेंगे जो इसे नियंत्रित (Re-regulating) करने का काम करेंगे |

इनमें पहला होगा – रूपालीगाड़ डैम (Rupaligad dam – 240 MW क्षमता) और दूसरा पूर्णागिरी डैम (Poornagiri Dam – 1000 MW क्षमता) | इन तीनो डैमों से 7720 MW बिजली का उत्पादन होगा|

Height of Pancheshwar Dam 

Pancheshwar Dam टिहरी डैम से काफी ऊँचा डैम होगा| टिहरी डैम की ऊँचाई 260 मीटर है, Pancheshwar बाँध 315 मीटर ऊँचा होगा| फिलहाल, Tehri Dam भारत का सबसे ऊँचा Dam है|

Pancheshwar Dam Project History

पंचेश्वर बाँध का इतिहास

Mahakali Treaty

Pancheshwar Dam को बनाने का सबसे पहले जिक्र 1996 में महाकाली संधि (Mahakali Treaty) में हुआ था| हालांकि तब से लेकर इस पर कई बैठेकें चली और 2016 तक इसपर बात नहीं बनी और अब जाकर इस Dam को सहमति मिल गयी है|

Benefits of Pancheshwar Dam

पंचेश्वर बांध परियोजना के फायदे

इस dam के कई फायदे (benefits) हैं, तो चलिए अब उनके बारे में जान लेते हैं|

  • बिजली-सिंचाई में उपयोग:

Pancheshwar डैम के बनने से सबसे बड़ा फायदा यह होगा की इससे बड़ी मात्रा में बिजली उत्पादन (6480 MW) और सिंचाई में उपयोग में लाया जायेगा|

इससे भारत और नेपाल के कई क्षेत्रों को बिजली-पानी की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा|

  • भारत-नेपाल रिश्ते

इस dam के बनने से भारत और नेपाल के रिश्ते और ज्यादा मजबूत होंगे|

  • सर्वाधिक बिजली उत्पादन

पंचेश्वर डैम टिहरी डैम से 2.5 गुना बिजली उत्पादन करेगा|टिहरी डैम – 2400 MW बिजली उत्पादन करता है|

  • सबसे बड़ा dam

पंचेश्वर डैम आने वाले समय में भारत का सबसे बड़ा और विश्व का सबसे बड़ा Dam होगा|

  • रोजगार के अवसर

Pancheshwar Multipurpose Dam Project से उत्तराखंड निवासियों को रोजगार मिलेगा|

इस डैम के फायदे तो हैं मगर इसके कई नकसान भी हैं, तो चलिए अब उनके बारे में पता करते हैं –

Disadvantages of Pancheshwar Dam 

पंचेश्वर बांध परियोजना के नुकसान

Protest in Pithoragarh over Pancheshwar Dam Issue

  • प्रभावित क्षेत्र

Pancheshwar Dam से भारत और नेपाल के कई क्षेत्र प्रभावित होंगे|

भारत के चम्पावत, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा जिले और नेपाल का महाकाली क्षेत्र’ इस project से प्रभावित होगा|

उत्तराखंड के 134 गाँव: पिथौरागढ़ – 87, चम्पावत – 26 और अल्मोड़ा – 21 गाँव को इस project नुकसान होगा|

इस project से भारत का 120 वर्ग किलोमीटर तो नेपाल का 14 वर्ग किलोमीटर प्रभावित होगा| उत्तराखंड के 33 हज़ार और नेपाल के 12 हज़ार लोग प्रभावित होंगे|

  • प्रभावितों के लिए पुनर्वास 

बांध की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट में प्रभावितों के लिए पुनर्वास में जमीन या मकान देने का प्रावधान नहीं है।

  • भूस्खलन और बादल फटना 

पर्यावरणविदों का कहना है कि हिमालयी क्षेत्र में इतने बड़े डैम बनाने से भूस्खलन और बादल फटना जैसी समस्याएँ सामने आयेगी|

  • आशियाने उजड़ने का डर

लोगों को अपने आशियाने उजड़ने का डर सता रहा है।

पूर्व में बने बांधें में जिस तरह से विस्थापन हुआ उसे देखते हुए भी लोगों को सरकारों की कार्यप्रणाली से कम ही उम्मीद है।

पंचेश्वर डैम के बारे में ज्यादा जानने के लिए नीचे विडियो देखें 

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो इसे LIKE और नीचे दिए गए बटनों द्वारा इसे Share करें

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *