शहतूत (किम) के गुण व् फायदे  “Shahtoot Fruit”

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको “उत्तराखंड दर्शन” के इस पोस्ट में “शहतूत (किम) फल के गुण व् फायदे  Shahtoot Fruit”  के बारे में बताने वाले है यदि आप जानना चाहते हैं “शहतूत (किम) फल के गुण व् फायदे  Shahtoot Fruit” के बारे में तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े|





shahtoot

शहतूत फल के फायदे  व् गुण 

शहतूत उत्तराखंड के आलावा कई अन्य जगहों में भी पाया जाता हैं| उत्तराखंड में इसे (किम) फल के नाम से जाना जाता हैं |  यह फल खाने में मीठा होता है| इसे  मोरस अल्बा, तथा सफेद शहतूत के रूप में जाना जाता है, यह एक तेजी से बढ़ने वाला, छोटे आकार का शहतूत का पेड़ है जो 10–20 मीटर (33-66 फीट) लंबा होता है| यह  प्रजाति उत्तरी चीन की मूल निवासी है, और वहा  इसकी व्यापक रूप से खेती भी की जाती है और(संयुक्त राज्य अमेरिका, मैक्सिको, ऑस्ट्रेलिया, किर्गिस्तान, अर्जेंटीना, तुर्की, ईरान, आदि) में  भी प्राकृतिक रूप से खेती की जाती है।






शहतूत का उपयोग सदियों से एशिया में किया जाता था। विशिष्ट रूप से सफेद शहतूत, चीन का मूल निवासी है। इसके अलावा, उसी शहतूत के प्रकार को सदियों पहले यूरोप में ले जाया गया था और प्राकृतिक रूप से बनाया गया था। जल्द ही, एक ही सफेद शहतूत को मुख्य रूप से रेशमकीट उद्योग का समर्थन करने के लिए औपनिवेशिक अमेरिका में पेश किया गया था क्योंकि शहतूत के पत्ते रेशम के कीड़ों के लिए एकमात्र भोजन होते हैं।

शहतूत के पोषक तत्व –

    • शहतूत पोषक तत्वों और विटामिन से भरपूर होते हैं। एक कप कच्चे शहतूत में केवल 60 कैलोरी होती हैं, जो उन्हें हल्का और स्वादिष्ट नाश्ता बनाती है, फिर भी शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करती है।
    • शहतूत में कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो शर्करा को ग्लूकोज में बदलते हैं, जिससे कोशिकाओं को ऊर्जा मिलती है। शहतूत का सेवन आपके आयरन का सेवन बढ़ाता है और ऊतकों को ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करता है।
    • शहतूत विटामिन के और सी से भरपूर होता है। विटामिन सी टिशू की ताकत बढ़ाता है और कोलेजन संश्लेषण को बढ़ाता है। विटामिन के हड्डी के ऊतकों के विकास में मदद करता है और रक्त के थक्के के लिए एक आवश्यक घटक है|
    • इनमें रिबोफ़्लिविन (बी -2 के रूप में भी जाना जाता है) होता है, जो आपके ऊतकों को मुक्त कणों से बचाता है और इसमें मदद करता है





शहतूत खाने के फायदे –

  1. शहतूत खाने से पाचन शक्ति अच्छी रहती है. ये सर्दी-जुकाम में भी बेहद फायदेमंद है.
  2. यूरि‍न से जुड़ी कई समस्याओं में भी फायदेमंद  होता है.
  3. शहतूत खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है. ये बढ़ती उम्र के लक्षणों को जल्दी आने से भी रोकता है.
  4. शहतूत खाने से लीवर से जुड़ी बीमारियों में राहत मिलती है. साथ ही यह किडनी के लिए भी बहुत फायदेमंद है.

इसके अलावा शहतूत के पत्तों को घाव या फोड़े पर लगाना भी फायदेमंद होता है. इसके प्रयोग से घाव बहुत जल्दी भर जाते हैं. अगर आपको खुजली की दिक्कत है तो इसके पत्तों का लेप फायदेमंद रहेगा. शहतूत की पत्तियों को पानी में उबालकर उस पानी से गरारे करने से गले की खराश दूर हो जाती है.

उमीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो इसे like तथा नीचे दिए गए बटनों द्वारा share जरुर करें|