‘वीरभद्र मंदिर’ उत्तराखंड “Virbhadra Temple” Rishikesh Uttarakhand 

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको “उत्तराखंड दर्शन” के इस पोस्ट में “वीरभद्र मंदिर उत्तराखंड Virbhadra Temple Rishikesh” के बारे में बताने वाले हैं यदि आप जानना चाहते हैं “वीरभद्र मंदिर उत्तराखंड Virbhadra Temple Rishikesh” के बारे में तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े|





virbhadra

वीरभद्र मंदिर का इतिहास History Of Virbhadra Temple Rishikesh

भगवान शिव को समर्पित वीरभद्र मंदिर उत्तराखंड के ऋषिकेश के वीरभद्र  नगर में स्थित है। यह शिव का एक उग्र रूप है| यह 1,300 साल पुराना मंदिर है, जहां वीरभद्र,  भगवान शिव के एक रूप की पूजा की जाती है। शिवरात्रि और सावन के अवसर पर रात्रि जागरण और विशेष पूजाएँ आयोजित की जाती हैं। महाशिवरात्रि पर्व के साथ मेलों का आयोजन होता है।  किंवदंतियों के अनुसार वीरभद्र भगवान शिव का एक अवतार माना जाता है जो क्रोध में उनके द्वारा बनाया गया था।





पौराणिक मान्यताओं  के अनुसार

वीर भद्रेश्वर मंदिर का पौराणिक महत्व भी है। मान्यता है कि इस स्थान पर दक्ष प्रजापति ने यज्ञ किया था। जब सती (उमा) को पता चला कि उसके पिता यज्ञ कर रहे हैं तो उसने भगवान शंकर से यज्ञ में चलने को कहा। निमंत्रण न होने पर भगवान शंकर ने यज्ञ में जाने से मना कर दिया। जब सती काफी जिद करने लगी तो शंकर ने उसे अपने दो गणों के साथ यज्ञ में भेज दिया।यज्ञ स्थल पर जब सती पहुंची तो उसने देखा कि उसके पिता प्रजापति ने भगवान शंकर का आसन तक नहीं रखा है। सती ने इसका कारण पिता से पूछा तो उन्होंने भगवान शंकर के लिए अपमान सूचक शब्दों का प्रयोग किया।
इसे सहन न कर सती ने यज्ञ की अग्नि में आत्मदाह कर लिया।सती के साथ आए गणों ने इसकी सूचना लौटकर भगवान शिव को दी। इस पर शंकर भगवान के क्रोध की कोई सीमा नहीं रही। क्रोध से वीरभद्र नाम के गण का जन्म हुआ। भगवान की आज्ञा लेकर वीरभद्र ने यज्ञस्थल को विध्वंस कर दिया। इसके बाद भगवान शंकर के शरीर में समा गया। इसी गण के नाम से वीरभद्र का मंदिर जाना जाता है। इसी मंदिर के नाम से ही यहां के स्थान का नाम वीरभद्र पड़ा।





यहाँ तक कैसे पहुंचे How To Reach?

ट्रेन- निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश रेलवे स्टेशन हैं यहाँ से वीरभद्र का मंदिर की दूरी लगभग 6 किलोमीटर हैं यहाँ से आप वीरभद्र का मंदिर तक आसानी से टैक्सी में जा सकते हैं |

हवाई अड्डा – निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई हैं यहाँ से वीरभद्र का मंदिर की दूरी लगभग 24 किलोमीटर हैं यहाँ से आप वीरभद्र का मंदिर तक आसानी से टैक्सी में जा सकते हैं |

उमीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आये अगर आपको यह पोस्ट तो इसे like तथा नीचे दिए बटनों द्वारा share जरुर करें|

Google Map Of Virbhadra Temple 






Virbhadra Temple Rishikesh In 360 Degree