Home Blog

Test

0

पहाड़ी समाचार उत्तराखंड में नंधौर भे सटी गावं क मवेशियों क बीमा कराल वैन विभाग

उत्तराखंड में नंधौर भे सटी गावं क मवेशियों क बीमा कराल वैन विभाग

हल्द्वानी : मानव – वन्यजीव संघर्ष के रोकनेक लिजी वन विभाग नई पहल करन जमरे | जंगल भे सटी गावं में पशुपालन के मवेशियों क बीमा करुन में ऊनि वाल खर्च क आधी रकम एनजीओ डब्ल्यूडब्ल्यूएफ भे दिलाई जाल | शुरुआत नंधौर भे सटी छह गावं भे करी जाली | दिसम्बर प्रथम सप्ताह में यो यो गावं में कैंप लगाकर पशुपालकों के मवेशियों क स्वास्थ्य परीक्षण करनक दगाड बीमा ले करी जाल | वन्यजीवों के हमले में घायल होने या मौत हुन में वन विभाग मुआवजा क रकम अलग – अलग हु | भैस के मारन में वन विभाग 15 हजार रूपये पशुपालन के दियू , मगर आब 40-50 हजार भे कम में नई भैंस खरीदन मुश्किल छू | यस में पशुपालन और काश्तकार ले वन्यजीव क प्रति अलग नजरिया  राखूं | यो वजह भे मानव – वन्यजीव संघर्ष क दुर्घटनाओं में बढोत्तरी क डर रुन भयो | सोमवार के हल्द्वानी वन प्रभाग के डीएफओ कुंदन कुमार सिंह क की इन मामलों के लव भेरन अफुड़ कार्यालय में बैठक बुलाई , जेमे पशु चिकित्सक डा. आयुष , डब्ल्यूडब्ल्यूएफ क टीम लीडर एके सिंह , एसडीओ राम कृष्ण मौर्य और रेंजर शालिनी जोशी ले मौजूद रे | एसडीओ क मुताबिक , राज्य व केंद्र सरकार द्वारा मवेशियों क बीमा करूँन पर  सब्सिडी दे जाँ | एक बावजूद पशुपालन जेब भे पैसे खर्च हुनक चक्कर में बीमा ने करूँन | वाई एक घटना क बाद वन विभाग द्वारा देई जानी वाल मुआवजा नाकाफी हुन | लिहाज , डब्ल्यूडब्ल्यूएफ द्वारा बीमा क प्रीमियम क आधी धनराशि देई जाल | शुरुआत में खेड़ा , कालूखेडा , ककोट , लाखनमंडी उ आमबाग क पशुपालकों के योजना क लाभ देई जाल |

 

उत्तराखंड में आब मिलल ढाई लाख परिवारों के रोजगार

उत्तराखंड में आब मिलल ढाई लाख परिवारों के रोजगार

मनरेगा [महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम] में आब 75 लाख अतिरिक्त मानव दिवस सृजित करनेते केंद्र के मिली हरी झंडी

करोना संकटक बिच उत्तराखंड क गावों में रोजगार मुहैया करुनक दिशा में महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम [मरेगा] नित नई उचाई छू मरे | कामक निरंतर बडती मांग के देखते हुए केंद्र सरकारेल राज्य में 75 लाख अतिरिक्त मानव दिवस सृजित करनेते हरी झंडी दे दी ग्ये | येक दगाड ही राज्य में चालू वित्तीय वर्ष में मानव दिवस सृजित हुनक आकड़ा 2.75 करोड़ पूजी जाल | पांच वर्षोक दौरान यो सर्वाधिक छू | येक करीब ढाई लाख अतिरिक्त परिवारों के मनरेगा में रोजगार मिल सकल |

करोना संकट क कारण मार्च भे राज्य में ले सप्पे गतिविधियाँ बुरी तरह प्रभावित भे | इम्मे मनरेगा ले शामिल छू | हालाँकि , 20 अप्रैल भे मनरेगा में काम शुरू करनेक केंद्र भे मिली छूटक अच्छे नतीजे आन ग्रामीणक लोगनेल इम्मे रूचि दिखा | यो बिच देशक विभिन्न राज्यों भे गावं लौटी प्रवासियों के एक लाख वापस लौट ग्यान पलायन आयोगक रिपोटेक मुताबिक गावों में रुकी प्रवासियों में  38 फीसद रोजगार क लिजी मनरेगा में निर्भर छू | प्रदेश में मनरेगा  क गाड़ी कदू तेज दोड़में , येक अंदाज योई भे लगाई जा सकूँ की आब निर्धारित दो करोड़ मानव दिवसक लक्ष्य क सापेक्ष 1.86 करोड़ मानव दिवस सृजित हे ग्यो | साफ साफ छू की मनरेगा में कामेक मांग लगातार बढ़ते जमरे | एसे देखते हुए राज्य क और भे केंद्र के एक करोड़ अतिरिक्त मानव दिवस सृजित करंक प्रस्ताव भेजी ग्यो | अपर सचिव मनरेगा उदयराज सिंह के अनुसार केंद्र भे 75 लाख मानव दिवस सृजित करनेते इजाजत दे | हाजिर छू की इम्मे मनरेगाक बजट में ले वृधि होली | मनरेगा राज्य समन्वयक मोहम्मद असलमक मुताबित मनरेगा भे यो बार करीब ढाई लाख परिवार अतिरिक्त जुडी छीन | अतिरिक्त मानव दिवसक मंजूरी मिलन भे यो परिवारों के ले सौ दिनक रोजगार मिल सकल | मनरेगा में आब तक पंजीकृत कुल परिवारों [ जांब कार्ड धारकों ] क संख्या 8.05 लाख छू |

पहाड़ी समाचार उत्तराखंडक किसानों के आब आरएफसी क काँटों में होली धाननेक खरीद

उत्तराखंडक किसानों के आब आरएफसी क काँटों में होली धाननेक खरीद
हल्द्वानी : राज्य में धान खरीद सत्र जारी छू | सरकारेक तरफ भे सहकारिता , नैफेड [नेशनल एग्रीकल्चरल मार्केटिंग फेडरेशन आफ इण्डिया लिमिटेड] और आरएफसी [ संभागीय खाध्य नियंत्रक ] के तौल केन्द्रों क माध्यम भे लक्ष्य क सापेक्ष किसानों भे धान खरीदी जमरो | यो बार बाजार मूल्य क मुकाबले सरकारी मूल्य ज्याद हुन भे किसान सरकारी तौल केन्द्रों में धान बेचनक लिजी उत्साहित दिखाई दिमरान | येके चलते नैफेड और सहकारिता विभागेल धान खरीदक लक्ष्य प्राप्त करी ह्या | दिवे एजेंसियों द्वारा अफुढ़ काँटों में धान खरीद बंद करी ह्या | इम्मे हजारो किसानोंक के अफुढ़ धानक खराब हुनक चिंता सतुमें | लेकिन किसानों के आब ले निराश हुनेक जरुरत ने छू | ऊँ अफुढ धान आरएफसी क काँटों में बेच सकाल |

पहाड़ी समाचार पेयजल योजना के साड़े तीन अरबक डीपीआर

उत्पेतराखंड में पेयजल योजना क साड़े तीन अरबक डीपीआर

जमरानी बांध भे हल्द्वानी क लिजी बननी वाल पेयजल योजना क डीपीआर जल निगम भे बना दे ह्या| यो 355.50 करोड़ रूपये क छू | ये अंतिम रूप दिनक बाद निगम भे सरकार के ले भेज दे ह्या |

जमरानी बांध परियोजनाक निर्माणक लिजी एडीबी धनराशि उपलब्ध कराली उनिल सरकार भे बांध भे हल्द्वानी के हुनी वाल पेयजल सप्लाई क योजना करी डीपीआर बनुनक लिजी कई छी | जेक बाद भे जल निगम डीपीआर बनून में जुट ग्ये | अधिशासी अभियंता एके कटारिया ली बता की 355.50 करोड़ रूपयेक फाइनल डीपीआर बनाभेर राज्य सरकार के भेज देई ग्ये | जां भे केंद्र के जाई बाद एसे एडीबी के भेज देई जाल | राज्य सरकार एसे केंद्र सरकार के भेजेली , जां भे यो एडीबी के भेजी जाल | एडीबी यो डीपीआर के प्रस्तावित जमरानी बांध परियोजनाक डीपीआर में शामिल करेली |

पेली चरण में मांगी 14.60 करोड़ रुपये : जल निगम भे डीपीआर शासन के भेजनक दगाढ में पेली चरणक कर्मोक लिजी 14.60 करोड़ रूपयेक डिमांड ले करी छी | ईई ल बता की यो धनराशि भे वन और अन्य भूमि हस्तांतरण आदि काम हुंगे |

पहाड़ी समाचार उत्तराखंड में जल्द ही आब निर्यात निति

उत्तराखंड में जल्द ही आब निर्यात निति

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावतेल क की प्रदेशक उत्पादोंक के मिलोल अंतर्राष्टीय बाजार

राज्य व्यूरो देहरादून : प्रदेश सरकार आब निर्यात के बढावा दिनेक तैयारी करममें | यो कड़ी में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावतेल राज्य स्थापना दिवस में निर्यात निति बनुनेक धोषणा करी | सरकारेक मंशा प्रदेश क उत्पादोंक के अंतर्राष्टीय बाजार उपलब्ध करुन छू | प्रदेश में कई यास वस्तु छीन जिनोर निर्यात हे सकूँ | कुछ समय पेली उद्योग विभाग भे सप्पे जिल्लों भे यस उत्पाद क नाम मांगी छी जिनोर निर्यात करी जा संकू | आब तक इनोर निर्यात हुन तो मरो | लेकिन बहुत छोटे छोटे स्तर में | येक लिजी ले निर्यातोक तलाश करनेते बहार जान पडोल | कुछ समय पेली केंद्र सरकारेली ले निर्यात के बढावा दिनेक लिजी सप्पे राज्यों में अफुड़ निर्यात निति बनुनेते कई छी |

प्रविधान करी जमरो | प्रदेश सरकार निर्यातकों क निर्यात क लिजी जरुरी विभिन्न प्रकार क प्रमाण पत्रों के हासिल कर नेते मदद करेली | निति में छोटे छोटे निर्यात जोन बनुन ले प्रस्तावित करी जाल | येक अलावा यो निति में पर्यटक उ वेलनेस के शामिल करनेते तैयार छू | येक लिजी निर्यातों क लिजी कंटेनर उपलब्ध करुनेते और इन्हें समुद्र तटो तक पुजनेक लिजी सरकार द्वारा सहयोग दिए जाललेक सहयोग देई जानक व्यवस्था ले निति में करी जाली | निर्यतोक के जमीन उपलब्ध करुनक सम्बन्ध में ले प्रस्तावित निति में विचार करी जमरो |

 

 

  पहाड़ी समाचार  हल्द्वानी में 13  आजी स्थान में लगाल ट्रैफिक सिग्नल

           हल्द्वानी में 13  आजी स्थान में लगाल ट्रैफिक सिग्नल

हल्द्वानी :  शहर में जामक समस्या के देखते हुए 13  व्यस्त चौराहों – तिराहों में ट्रैफिक सिग्नल यानि रेड लाइट लगाई जाल | आब तक सिर्फ मुखानी चोराहे में रेड लाइन

सिस्टम छी | पुलिस मुख्यालय भे भे येक लिजी बजट जारी हे ग्यो | रुद्रपुर में 11  जाग में ट्रैफिक सिग्नल बनुनक काम होल | पुलिस क मुताबित पूर्व में जामेक समस्या के देखते हुए प्रस्ताव बनाई गई छी | जेक बाद रुद्रपुर उ हल्द्वानी क लिजी  2  करोड़ तीन लाख रूपये जारी भ्यान | खास बात यो छू की सप्पे सिंग्नलो में कैमरा ले लगाल | यस में कोई नियमक उलंघन कर रेड लाइन के जंप करोल जब्त नंबरक आधार में वाहन स्वामी के ट्रेस कर भेरन पुलिस चालान घर भेज देली | वई , ट्रैफिक इंस्पेक्टर महेश चंद्र बता की हल्द्वानी क व्यस्त जगहों में शामिल नारीमन तिराहा , जिला  सहकारी बैंक तिराहा , हाईडील गेट तिराहा , आईटीआइ तिराहा , लालडाठ तिराहा , कुसुमखेडा चौक , सेंट्रल अस्पताल तिराहा , पिलीकोठी तिराहा , ओके होटल तिराहा , आईटीआइ तिराहा , सिंधी चौक , टीपीनगर , अल्मोड़ा अर्बन बैंक में रेड सिग्नल लगाल |

पहाड़ी समाचार उत्तराखंडक नैनीताल जील्ल में आब सूखाताल झील में बनोल नाइट टूरिज्म डेस्टीनेशन

उत्तराखंडक नैनीताल जील्ल में आब सूखाताल झील में बनोल नाइट टूरिज्म डेस्टीनेशन

 नैनीताल : शहर क विकास उ पर्यटन भे संबंधित प्रस्तावित उ भावी कार्ययोजना तैयार करनेते सिविल सोसायटी क सुझाव लेई जाल | सिविल सोसायटील सूखाताल झील के पुनर्जीवित करनेते क वाँ नाईट टूरिज्म डेस्टिनेशन बनूनक सराहना करते हुए सहमती प्रदान करी ग्ये |

शुक्रवार के एलडीए सभागार में विधायक संजीव आर्य उ मंडलायुक्त अरविंद ह्रान्की जनप्रतिनिधियों , विभिन्न संगठनो क पदाधिकारियों क उ सिविल सोसायटी क सदस्यों क दगाड़ बैठक छी | विधायकेली बता की सूखाताल में कृत्तिम झील बनूनोक दगाड ले पार्किंग समेत अनेक कार्य प्रस्तावित छू | सूखाताल के नाइट टूरिज्म डेस्टिनेशन क रूप में विकसित करी जाल | बीडी पांडे अस्पतालक समीप तथा फांसी गधेर में पार्किंग प्रस्तावित छू | प्राधिकरण क माध्यम भे शहर क ऊचाई वाल जाग में जानी वाल पैदल बाटक किनार में बुजर्ग क बैठनेक लिजी बेंच बनाई जाल | यो दौरान विभिन्न संगठनो क मल्लीताल में चिल्ड्रन पार्क क उची बाउंड्रीवाल में गंभीर सवाल उठाते हुए क की येल झीलक सौन्दर्य प्रभावित हुमरो | यों ओचित्यहीन ले छी | सदस्योंली जल संरक्षण , पौधरोपण , ड्रेन  संरक्षण , बफर जोन क संरक्षण करते हुए प्रोजेक्ट तैयार करन में जोर देई ग्यो | बैठक में पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी , प्राधिकरण उपाध्यक्ष रोहित मीणा , सचिव पंकज उपाध्यक्ष , प्रो . अजय अरोड़ा , प्रो . अजय रावत , यशपाल आदि जिन छी |

     उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिल्लक  धारचूला में अंतर्राष्ट्रीय झूला पुल खुल ग्ये

         उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिल्लक  धारचूला में अंतर्राष्ट्रीय झूला  पुल खुल ग्ये | 

धारचूला : भारत और नेपाल के जोड़नी वाल धारचूला क अंतर्राष्ट्रीय झूला पुल गुरुवार के खोल दे ह्या | नेपालक दत्तू गॉंव क निवासी एक मानसिक रोगी क उपचार क लिजी बरेल ले जानेकी मांग सहित अन्य लोगनक अनुरोध में दोनों देशों क सहमति में पुल खुली | यो दौरान दोनों देशोंक 234 लोगों क आवाजाही करी | इम्मे भारत भे 105 लोग नेपाल ग्यान जबत 129 लोग नेपाल भे भारत आँन |

नेपाललक दार्चुला जील्ल क दत्तू गॉव निवासी नर सिंह कार्की मानसिक रोगी छू | उनोर उपचार पूर्व में बरेल में चली छी | वाँ हालत ज्याद ख़राब होनोक पर उनोर पुत्र द्वारा उपचार क लिजी बरेल ले जानक मांग में पुल खोलनक लिजी नेपाल प्रशासन भे अनुरोध करी ग्यो | एसडीएम धारचूला एके शुक्लाल बता की प्रमुख जिलाधिकारी दार्चुला उ नेपाल सकारक गृह मंत्रालय भे दूरभाषा में पुष्टि क बाद गुरुवार के दो भे सायं पांच बाजी तक पुल खोली ग्ये |

पहाड़ी समाचार उच्च हिमालयी में भ्यो मौसमक पेली हिमपात

उच्च हिमालयी में भ्यो मौसमक पेली हिमपात

पिथौरागढ़ / मुनस्यारी / धारचूला : उच्च हिमालय में बुधवार के मौसम ख़राब हे ग्यो | हिमालयक उची चोटी में हिमपात लागी रो | वॉ , धारचूला क व्यास घटी में चीन सीमा भे लागी भारतक अंतिम गॉव कुटी में मौसम क पेली हिमपात हे ग्यो | आदि कैलाश , लिपुलेख , ऊँ पर्वत सहित पंचाचूली , हंसलिंग , राजरंभा , नंदा देवी , नंदा कोट , बृजगंग सहित  सप्पे चोटियों में राते भे हिमपात जारी छू | हिमनगरी मुनस्यारी साहित उच्च मध्य हिमालयी भू भाग में बारिश हुमरे |

उच्च हिमालय में विगत तीन दिन भे बादल छा राँन | तीन दिन पूर्व उच्च हिमालय क चोटियों में हिमालय हई छी | यो दौरान 13  हजार फिटेक ऊचाई  में स्थित कुटी गॉव में ले हिमालय हई छी | बुधवार राते भे उच्च हिमालय बादलों भे घिरी छी | और चोटियों में बर्फ़बारी हुम रछी | अपरान्ह २ बजे भे मुनस्यारी सहित ऊचाई वाल स्थानों में बारिश हुमरे | चोटियों में हिमपात और मुनस्यारी में बारिश हुमरे | चोटियों में हिमपात और मुनस्यारी में बारिश हुनेक उली मुनस्यारी में तापमानक गिरावट आ ग्ये|

यां न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस भे कम और अधिकतम तापमान 12 डिग्री तक ही पहुच मरो | उधर धारचूलाक दिवे उच्च हिमालयी दारमा और व्यास घाटी क चोटियों में ले हिमालय हुमरो | जेक चलते दोनों घाटियों क माइग्रेशन करनी वाल ग्रामीण घाटियों तरफ उन भेग्यान | व्यास भे मिली जानकारी क अनुसार मौसम इस्से ही रुन में एक दो दिन में उच्च हिमालय में भारी हिमपात हे सकूँ |