History of Baijnath Temple , Bageshwer (बैजनाथ मंदिर का इतिहास , बागेश्वर)

नमस्कार दोस्तों उत्तराखंड दर्शन की इस पोस्ट में आज हम आपको उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर जिले में स्थित प्रसिद्ध मंदिर “बैजनाथ मंदिर” अर्थात “बैजनाथ मंदिर का इतिहास” के बारे में जानकारी देने वाले है | यदि आप बैजनाथ मंदिर के इतिहास  के बारे में जानकारी पाना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े !



यह मन्दिर उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर जिले के गरुड़ तहसील में स्थित है । यह मंदिर गरुड़ से 2 किमी की दूरी पर गोमती नदी के किनारे पर स्थित है। बैजनाथ मन्दिर लगभग 1000 साल पुराना है इस मंदिर के बारे में कहते है कि यह मन्दिर सिर्फ एक रात में बनाया गया था । बैजनाथ उत्तराखंड का काफी महत्वपूर्ण एवम् ऐतिहासिक स्थल है। कौसानी से महज 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बैजनाथ गोमती नदी के तट पर स्थित है । पर्यटकों के लिए यहां का सर्वाधिक आकर्षण का केन्द्र 12वीं सदी में निर्मित शिव, गणेश, पार्वती, चंडिका, कुबेर, सूर्य मंदिर हैं । यहां पत्थर के बने हुए कई मन्दिर हैं , जिनमें मुख्य मन्दिर भगवान शिव का है।

History of Baijnath Temple , Bageshwer (बैजनाथ मंदिर का इतिहास , बागेश्वर)

history of baijnath temple bageshwer बैजनाथ मंदिर कुमाऊ कत्युरी राजा द्वारा बागेश्वर जिले में करीब 1150 इसवी में गोमती नदी के किनारे पर बनाया गया था । यह मंदिर 1126 मीटर की ऊंचाई पर गोमती नदी के बाएं किनारे पर स्थित है | यह मंदिर विशाल पाषण शिलाओं से बनाया गया है।

बैजनाथ में यात्रा करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण जगहों में से एक 12 वी सदी में बना ऐतिहासिक एवम महत्वपूर्ण “बैजनाथ मंदिर” है | ऐसी मान्यता है कि शिव और पार्वती ने गोमती व गरुड़ गंगा नदी के संगम पर विवाह रचाया था |

बैजनाथ को पहले “कार्तिकेयपुर” के नाम से जाना जाता था , जो कि 12वीं और 13वीं शताब्दी में कत्यूरी वंश की राजधानी हुआ करती थी । शिव वैद्यनाथ के लिए समर्पित, भगवान के चिकित्सकों, बैजनाथ मंदिर वास्तव में एक मंदिर है , जो कि शिव, गणेश, पार्वती, चंदिका, कुबेर, सूर्य और ब्रह्मा की मूर्तियों के साथ कत्युरी राजाओं द्वारा बनाया गया है । इसके अलावा बैजनाथ शहर भी मंदिर से अपना नाम रखता है। महंत के घर के ठीक नीचे मुख्य मंदिर के रास्ते में ब्राह्मणी मंदिर है | जिसके बारे में पौराणिक कथा यह है कि मंदिर में एक ब्राह्मण महिला द्वारा निर्मित शिवलिंग भगवान शिव को समर्पित था । (बैजनाथ मंदिर का इतिहास )

बागेश्वर में स्थित बैजनाथ मंदिर के साथ साथ बागनाथ मंदिर के भी दर्शन जरुर करने चाहिए क्यूंकि बागनाथ मंदिर भी बैजनाथ मंदिर के सामान पौराणिक धार्मिक स्थल है |

यदि आप बागेश्वर जिले में स्थित प्रसिद्ध एवम् धार्मिक “बैजनाथ मंदिर” के दर्शन करना चाहते है , तो निचे दी गयी विडियो को जरुर देखे |

और उत्तराखंड राज्य में स्थित अन्य प्रसिद्ध , लोकप्रिय मंदिर के बारे में जानने के लिए हमारे You-Tube Channel को Subscribe जरुर करे |




उम्मीद करते है कि आपको “ बैजनाथ मंदिर के इतिहास ” के बारे में पढ़कर आनंद आया होगा |

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमारे फेसबुक पेज को LIKE और   SHARE जरुर करे |

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त के लिए हमारा YOU TUBE CHANNEL जरुर SUBSCRIBE करे |