काशीपुर(उधमसिंह नगर) का इतिहास (उत्तराखंड) History Of Kashipur…

0
160

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

काशीपुर का इतिहास (History Of Kashipur)

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको “उत्तराखंड दर्शन” के इस पोस्ट में “काशीपुर के इतिहास (History Of Kashipur)” के बारे में बताने वाले हैं यदि आप जानना चाहते हैं “काशीपुर (kashipur)” के बारे में तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े|


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


[/av_textblock]

[/av_one_full][av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2019/03/kashipur.png’ attachment=’5340′ attachment_size=’full’ align=’center’ styling=’no-styling’ hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

काशीपुर – उत्तराखंड का औद्योगिक शहर

काशीपुर उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले में स्थित हैं|   वर्ष  2011 की जनगणना के अनुसार इस नगर की कुल जनसंख्या 1,21,623 है, जबकि काशीपुर तहशील  की कुल जनसंख्या 2,83,136 है। इस प्रकार, जनसंख्या की दृष्टि से काशीपुर कुमाऊँ  में तीसरा और उत्तराखंड  में छठा सबसे बड़ा नगर है।काशीपुर का मिनियन टाउन एक प्रमुख औद्योगिक केंद्र के रूप में उभर रहा है। कई बड़े औद्योगिक घरानों जैसे कि इंडिया ग्लाइकोल्स लिमिटेड, HCL, वीडियोकॉन, GAMA IFRAPROP प्राइवेट लिमिटेड कंपनी हैं|

काशीपुर में 225MW का अपना पावर प्लांट, पेपर मिल और चीनी मिलें भी हैं। काशीपुर में स्थित कुछ मुख्य औद्योगिक स्टेट बालाजी, औद्योगिक स्टेट, भीम नगर औद्योगिक स्टेट, ओमेगा औद्योगिक स्टेट और आईडीईबी औद्योगिक स्टेट भी  हैं।

काशीपुर उत्तराखंड का एकमात्र ऐसा शहर जो अपनी एकमात्र IIM की सुविधा देता है, जो काशीपुर में स्थित एक पब्लिक बिजनेस स्कूल है। यह तेरह भारतीय प्रबंधन संस्थानों में से एक है जिसे सरकार ने ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना के दौरान स्थापित किया है।

काशीपुर में पांडवों द्वारा गुरु द्रोणाचार्य या उनके गुरु को शुल्क देने के लिए पांडवों द्वारा बनाई गई प्राचीन द्रोण सागर झील को देख सकते हैं। वर्तमान में, द्रोण सागर में उत्खनन स्थल भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित है। अमन और शांति के लिए, लाहौरियान, काशीपुर में माँ मनसा देवी मंदिर जा सकते हैं।
[/av_textblock]
[/av_one_full]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

ऐतिहासिक रूप में काशीपुर –

ऐतिहासिक रूप से, इस क्षेत्र की अर्थव्यस्था कृषि तथा बहुत छोटे पैमाने पर लघु औद्योगिक गतिविधियों पर आधारित रही है। काशीपुर को कपड़े और धातु के बर्तनों का ऐतिहासिक व्यापार केन्द्र भी माना जाता है। भारत की स्वतंत्रता से पूर्व काशीपुर नगर में जापान से मखमल, चीन से रेशम व इग्लैंड  के  मैनचेस्टर  से सूती कपड़े आते थे, जिनका  तिब्बत व पर्वतीय क्षेत्रों में व्यापार होता था। बाद में प्रशासनिक प्रोत्साहन और समर्थन के साथ काशीपुर शहर के आसपास तेजी से औद्योगिक विकास हुआ। वर्तमान में नगर के एस्कॉर्ट्स फार्म क्षेत्र में छोटी और मझोली औद्योगिक इकाइयों के लिए एक एकीकृत औद्योगिक स्थल (इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल एस्टेट) निर्माणाधीन है।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

भौगोलिक रूप से काशीपुर कुमाऊँ के तराई क्षेत्र में स्थित है, जो पश्चिम में  जसपुर  तक तथा पूर्व में खटीमा तक फैला है। कोशी  और रामगंगा  नदियों के अपवाह क्षेत्र में स्थित काशीपुर  ढेला नदी के तट पर बसा हुआ है। 1872 में काशीपुर नगरपालिका की स्थापना हुई, और 2011 में इसे उच्चीकृत कर नगर निगम का दर्जा दिया गया। यह नगर अपने वार्षिक चैती मेले  के लिए प्रसिद्ध है। महिषासुर मर्दिनी देवी, मोटेश्वर महादेव तथा माँ बालासुन्दरी के मन्दिर, उज्जैन किला, द्रोण सागर, गिरिताल, तुमरिया बाँध तथा गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब काशीपुर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल हैं।
[/av_textblock]

[/av_one_full][av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

काशीपुर में मनाया जाने वाला चैती मेला –

काशीपुर में चैती मेला स्थानीय लोगों द्वारा बहुत रोमांच के साथ मनाया जाता है। यह मेला उन हजारों तीर्थयात्रियों और श्रद्धालुओं का ध्यान खींचता है, जो दूर-दराज के गाँवों से इस स्थान पर आते हैं और उत्सव का हिस्सा बनते हैं। काशीपुर एक छोटा शहर और उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले में स्थित नगर निगम है। एक औद्योगिक शहर के रूप में प्रगति के अलावा, काशीपुर को पवित्रता प्रदान करने के लिए भी जाना जाता है क्योंकि यह भगवान शिव और गुरुद्वारा श्री नानक साहिब, जो सिखों के पवित्र स्थानों में से एक है, को समर्पित कई पवित्र हिंदू मंदिरों को शामिल करता है।
[/av_textblock]
[/av_one_full]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

यहाँ तक कैसे पहुंचे (How To Reach)?


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


यहाँ तक आप आसानी से पहुच सकते हैं |

हवाई जहाज – निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर हवाई अड्डा हैं यहाँ से काशीपुर की दूरी लगभग 72  किलोमीटर हैं | यहाँ से आप काशीपुर तक आसानी से टैक्सी से जा सकते हैं |

ट्रेन – निकटतम रेलवे स्टेशन उधमसिंह नगर रेलवे स्टेशन है यहाँ से काशीपुर की दूरी लगभग 2 किलोमीटर हैं| यहाँ से आप काशीपुर तक आसानी से टैक्सी से जा सकते हैं |
[/av_textblock]

[/av_one_full]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here