Pindari Glacier , Height , Temperature , Hotels , Trek and Route Map (Bageshwer)

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको उत्तराखंड दर्शन की इस पोस्ट में उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर जिले में स्थित प्रसिद्ध एवम् लोकप्रिय ग्लेशियर “पिंडारी ग्लेशियर (Pindari Glacier Bageshwer , Uttarakhand)” के बारे में जानकारी देने वाले है | यदि आप बागेश्वर जिले में स्थित उत्तराखंड के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल  “पिंडारी ग्लेशियर” के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े |

Pindari Glacier Bageshwer , Uttarakhand





Pindari Glacier Bageshwer Uttarakhandपिंडारी उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में स्थित है और कुमाउं हिमालय का एक हिस्सा है | यह ग्लेशियर नंदादेवी और नंदकोट चोटियों के बीच में स्थित है | ग्लेशियर “पिंडार घाटी” में स्थित है | पिंडारी ग्लेशियर “पिंडार नदी” का स्रोत है जो कर्णप्रयाग के संगम पर अलकनंदा नदी से मिलती है । यहां से अलकनंदा के रूप में नदी का प्रवाह होता है । पिंडारी नदी की लंबाई 105 किलोमीटर है । जो नदी के किनारे छोटे मकान और मन्मट्टी, देवेलो, नंदकेसरी, थारली, कल्सरि, भगॉली, नारायणबागर, नौलीगांव और नौटि जैसे कस्बों को पार करती हैं ।

Pindari Glacier Height

इस ग्लेशियर की अधिकतम ऊँचाई 4200 मीटर है | पिंडारी ग्लेशियर लगभग 5 किमी लम्बी , 6 मीटर ऊँची और 2.5 मीटर चौड़ी है | ग्लेशियर 3 किमी लम्बाई और 300-400 मीटर की चौडाई तक फैला हुआ है एवम् यह ‘कर्णप्रयाग’ पर नदी ‘अलकनंदा’ से मिलने के लिए एक राह भी बनाता है । यह जगह पिंडारी आइस फॉल (Pindari Ice Fall) , लम्चिर पूर्व शिखर (Lamchir East Peak) और चंगुच माउंटेन (Changuch Mountain) का दृश्य भी दिखाता है | पूरा ग्लेशियर नंदा देवी से बड़ी हिमपात की वर्षा और ग्रेटर हिमालयन रेंज के आसपास की शिखर की वजह से बारिश का परिणाम है | पिंडारी ग्लेशियर वास्तव में साहसिक अमीगो (adventurous amigos) और फोटोग्राफर (Photographers) के लिए एक स्वर्ग है |

Pindari Glacier Temperature

यदि आप पिंडारी ग्लेशियरों की यात्रा के लिए योजना बना रहे हैं , तो पिंडारी ग्लेशियर में मौसम और तापमान के बारे में जानना महत्वपूर्ण है । पिंडारी ग्लेशियर का मौसम काफी ठंडा रहता है आम तौर पर यहाँ का तापमान 5 डिग्री से कम ही रहता है |

Pindari Glacier Baba





पिंडारी ग्लेशियर में पहुचने के बाद आपको पिंडारी बाबा के दर्शन होंगे | जिन्हें पिंडारी बाबा के अलावा “स्वामी धर्मनंदा” के नाम से भी जाना जाता है जो अकेले पिंडारी ग्लेशियर में “जीरो” बिंदु (Zero Point) नामक स्थान पर रह रहे है जो की खाती (Khati) गाँव से लगभग 27 km की दुरी पर स्थित है | खाती और Zero Point के बीच ना कोई व्यक्ति रहते है और ना कोई गाँव है उस स्थान पर दो कुमाउं मंडल विकास निगम (KMVN) guest house स्थित है |

Pindari Glacier Trek

भारत में ट्रेकिंग अपूर्ण है यदि आप पिंडारी ग्लेशियर ट्रेक नहीं करते हैं। ट्रेक करने के लिए आपको निम्न रास्ता तय करना होगा | यदि आप दिल्ली से पिंडारी ग्लेशियर के यात्रा तय करना चाहते है तो आपको सबसे पहले काठगोदाम पहुंचना होगा , उसके बाद आपको अल्मोड़ा , बागेश्वर और अंत में सौंग पहुंचना होगा | सौंग के बाद आपके ट्रेक की शुरूवात होती है |

Trek:-

Base Camp-Saung
Saung to Loharkhet 3 km trek,
Lohaekhet to Dhakuri 11 km,
Dhakuri to Khati 8 km,
Khati to Dwali 11 km,
Dwali to Phurkia 7 km,
Phurkia to Pindari Glacier 5 km.

Pindari Glacier Hotels

पिंडारी ग्लेशियर में आप सिर्फ KMVN (कुमाउं मंडल विकास निगम) में आराम या निवास कर सकते है | यह स्थान बहुत ही आराम दायक है जो कि सरकार के द्वारा पिंडारी ग्लेशियर की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक ठहराव है |





उम्मीद करते है कि आपको “ पिंडारी ग्लेशियर  , बागेश्वर , उत्तराखंड  (Pindari Glacier)  ” के बारे में पढ़कर आनंद आया होगा |

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमारे फेसबुक पेज को  LIKE और   SHARE जरुर करे |

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त के लिए हमारा YOU TUBE CHANNEL जरुर SUBSCRIBE करे |