Purnagiri Mela Tanakpur , Champawat !! (पूर्णागिरी मेला !!)

0
89
पूर्णागिरी मेला

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_heading heading=’Purnagiri Mela Tanakpur , Champawat !! (पूर्णागिरी मेला !!)’ tag=’h2′ style=’blockquote modern-quote modern-centered’ size=” subheading_active=” subheading_size=’15’ padding=’10’ color=” custom_font=” admin_preview_bg=”][/av_heading]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
नमस्कार दोस्तों आज हम आपको उत्तराखंड दर्शन कि इस पोस्ट में चम्पावत जिले में आयोजित होने वाले प्रसिद्ध मेला “ Purnagiri Mela Tanakpur , Champawat !! (पूर्णागिरी मेला !!)”   के बारे में जानकारी देने वाले है | यदि आप पूर्णागिरी मेला  के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े !
[/av_textblock]
[/av_one_full]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_heading tag=’h2′ padding=’10’ heading=’Purnagiri Mela Tanakpur , Champawat !! (पूर्णागिरी मेला !!)’ color=” style=’blockquote modern-quote modern-centered’ custom_font=” size=” subheading_active=” subheading_size=’15’ custom_class=” admin_preview_bg=”][/av_heading]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


पूर्णागिरी मेला उत्तराखंड के चम्पावत जिले में पड़ने वाले उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध स्थान में “मां पूर्णागिरि” का दरबार है | पूर्णागिरी मंदिर उत्तराखण्ड राज्य के चम्पावत नगर में काली नदी के दांये किनारे पर स्थित है । चीन, नेपाल और तिब्बत की सीमाओं से घिरे सामरिक दृष्टि से अति महत्त्वपूर्ण चम्पावत ज़िले के प्रवेशद्वार टनकपुर से 19 किलोमीटर दूर स्थित यह शक्तिपीठ माँ भगवती की 108 सिद्धपीठों में से एक है। उत्तराखण्ड जनपद चम्पावत के टनकपुर के पर्वतीय अंचल में स्थित अन्नपूर्णा चोटी के शिखर में लगभग 3000 फीट की उंचाई पर यह शक्तिपीठ स्थापित है अर्थात ” पूर्णागिरी मंदिर”।

देश के चारों दिशाओं में स्थित कालिकागिरि, हेमलागिरि व मल्लिकागिरि में मां पूर्णागिरि का यह शक्तिपीठ सर्वोपरि महत्व रखता है। आसपास जंगल और बीच में पर्वत पर विराजमान हैं ” भगवती दुर्गा “ । इसे शक्तिपीठों में गिना जाता है । इस शक्तिपीठ में पूजा के लिए वर्ष-भर यात्री आते-जाते रहते हैं |

पूर्णागिरी मंदिर में चैत्र मास की नवरात्र में मां के दर्शन का विशेष महत्व बढ जाता है | शरद ॠतु की नवरात्रियों के स्थान पर मेले का आनंद चैत्र की नवरात्रियों में ही अधिक लिया जा सकता है क्योंकि वीरान रास्ता व इसमें पड़ने वाले छोटे-छोटे गधेरे मार्ग की जगह-जगह को ख़राब बना देते हैं । चैत्र की नवरात्रियों में लाखों की संख्या में भक्त अपनी मनोकामना लेकर यहाँ आते हैं । अत्यधिक भीड़ के कारण यहाँ दर्शनार्थियों का ऐसा ताँता लगता है कि दर्शन करने के लिए भी प्रतीक्षा करनी पड़ती है। मेला बैसाख माह के अन्त तक चलता है । नवरात्री के दिन आयोजित होने वाले मेले के अल्वा पूर्णागिरी मंदिर में 31 दिसम्बर को भी भक्तो की भीड़ लगी रहती है क्यूंकि सभी भक्त अपने नए साल की शुरुवात माता के दर्शन से करना चाहते है , जिससे कि उनका पूरा साल खुशहाली के साथ बीते |

मेले के लिए विशेष बसों की व्यवस्था की जाती है , जो टनकपुर से ठुलीगाढ़ तक निसपद पहुँचा देती है | पूर्णागिरी की यात्रा अपूर्व आस्था और रमणीक सौन्दर्य के कारण ही बार-बार श्रद्धालुओं और पर्यटकों को भी इस ओर आने को उत्साहित सा करती है |

और यदि आप पूर्णागिरी मंदिर के बारे में पूर्ण जानकारी पढना चाहते है तो निचे दिए गए लिंक में क्लिक कर पोस्ट को जरुर पढ़े |

इसे भी पढ़े :- पूर्णागिरी मंदिर का इतिहास एवम् मान्यताये ! History and Beliefs of Purnagiri Temple , Uttarakhand
[/av_textblock]

[/av_one_full][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_heading tag=’h2′ padding=’10’ heading=’How to reach Purnagiri Mela Tanakpur , Champawat !! (पूर्णागिरी मेले में कैसे पहुंचे !)’ color=” style=’blockquote modern-quote modern-centered’ custom_font=” size=” subheading_active=” subheading_size=’15’ custom_class=” admin_preview_bg=”][/av_heading]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
आप अपने स्थान से टनकपुर के लिए सीधी बस कर सकते है । टनकपुर पहुंचने के बाद टैक्सी से पूर्णागिरी जा सकते हैं । टैक्सी आसनी से टनकपुर में उपलब्‍ध होती हैं । इसके साथ ही आप अपने वाहन से भी यहां जा सकते हैं।
[/av_textblock]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

उम्मीद करते है कि आपको Purnagiri Mela Tanakpur , Champawat !! (पूर्णागिरी मेला !!)” के बारे में पढ़कर आनंद आया होगा |

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमारे फेसबुक पेज को LIKE और SHARE  जरुर करे |

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त के लिए हमारा YOUTUBE CHANNELजरुर SUBSCRIBE करे |
[/av_textblock]

[/av_one_full]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here