Rajaji National Park , Haridwar !! (राजाजी राष्ट्रीय पार्क !!)

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको उत्तराखंड दर्शन की इस पोस्ट में हरिद्वार जिले में स्थित प्रसिद्ध स्थल “Rajaji National Park , Haridwar !! (राजाजी राष्ट्रीय पार्क !!)” के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है , यदि आप राजाजी राष्ट्रीय पार्क के बारे में जानना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े |

Rajaji National Park , Haridwar !! (राजाजी राष्ट्रीय पार्क !!)




Rajaji National Park Haridwarराजाजी राष्ट्रीय पार्क , ऋषिकेश से 6 किमी और देहरादून से 23 कि.मी. की दूरी पर स्थित देहरादून के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है | यह क्षेत्र 820.42 वर्ग तक फैला हुआ है | यह पार्क तीन जिलों देहरादून , हरिद्वार एवं पौढ़ी गढ़वाल के भूमि क्षेत्र में पड़ता है | सन् 1983 में स्थापित यह पार्क मोतीचूर अभ्यारण, चिल्ला अभ्यारण्य और राजाजी अभ्यारण्य नामक अभ्यारण्यों से मिलकर बना है । इन तीन वन्य जीव विहारों में मोतीचूर की स्थापना सन् 1936 , राजाजी वन विहार की स्थापना सन् 1948 एवं चिल्ला अभ्यारण्य की स्थापना सन् 1977 मं हुई थी। इस पार्क का नाम प्रसिद्ध स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी , दुसरे और अंतिम स्वंतत्र भारत गवर्नर जनरल राजनेता “श्री राजगोपालाचारी “ के नाम पर रखा गया है । श्री राजगोपालाचारी जी भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न (1954) पहले प्राप्तकर्ताओं में से एक है | 15 अप्रैल 2015 को बाघ अभयारण्य घोषित करने के लिए कुद्रेमुख (कर्नाटक) और राजाजी (उत्तराखंड) को अंतिम स्वीकृति दी गई थी कि राजाजी उत्तराखंड में दूसरी बाघ आरक्षित बने । भारत के प्रमुख वन्यजीव अभ्यारण्यों में गिना जाना वाला यह राजाजी राष्ट्रीय पार्क पक्षियों की 315 प्रजातियों और स्तनपायी की 23 प्रजातियों का घर है । एशियाई हाथी, चीता, भालू, कोबरा, जंगली सुअर, साँभर, भारतीय खरगोश, जंगली बिल्ली और कक्कड़ जैसे जन्तु इस पार्क में पाये जाते हैं । चीता, सुस्त भालू, हिरण और भौंकने वाले हिरण भी इस पार्क में देखे जा सकते हैं । गंगा नदी पार्क में 24 किमी की दूरी तय करती है । पार्क में साल , पश्चिमी गंगा के नमी वाले जंगल, उत्तरी शुष्क पतझड़ वाले वन और खैर-शीशम के जंगल पाये जाते हैं ।

पर्यटकों के लिये पार्क प्रतिवर्ष 15 नवम्बर से 15 जून के बीच खुला रहता है । पर्यटक अपने 34 किमी लम्बे जंगल सफारी के दौरान पहाड़ियों की सुन्दरता, घाटियों और नदियों के मनोरम दृश्य का आनन्द ले सकते हैं ।

Timing to Visit Rajaji National Park :-

राजाजी राष्ट्रीय पार्क में 15 नवम्बर से 15 फरवरी तक प्रातः 6.30 से सायं 6 बजे तक , 16 फरवरी से 31 मार्च तक प्रातः 6 से सायं 3 बजे तक, 1 अप्रैल से 15 मई तक प्रातः 6:30 से सायं 7:15 बजे तक , 16 मई से 15 जून तक प्रातः 3.30 से सायं 7:15 बजे तक प्रवेश किया जा सकता है।

ट्रैकिंग के लिए कीमत :-

जंगल सफारी की कीमत : एक व्यक्ति के लिए 1950 रुपये |
प्रत्येक अतिरिक्त के लिए जीप में व्यक्ति:- एंट्री चार्ज 150 रुपये |
हाथी की सवारी : 1500 रुपये की कीमत पर , चिलो रेंज के बाहर दूरी 1 किमी ।

हरिद्वार में स्थित प्रसिद्ध पर्यटन स्थल “ राजाजी राष्ट्रीय पार्क” के अल्वा प्रसिद्ध मंदिरों  दक्ष महादेव मंदिर , “भारत माता मंदिर , “मनसा देवी मंदिर , बिल्केश्वर महादेव मंदिरऔर चंडी देवी मंदिर“ और प्रसिद्ध घाट “हर की पौड़ी” के भी दर्शन कर सकते है |

प्रसिद्ध घाट :- हर की पौड़ी |

आश्रम :- सप्तऋषि आश्रम , शांतिकुंज आश्रम आदि |

Google Map of Rajaji National Park , Haridwar !!

राजाजी राष्ट्रीय पार्क ऋषिकेश से 6 किमी की दूरी पर स्थित है और 820.42 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला है ।  आप Google Map पर निचे इस स्थान को देख सकते हो |




उम्मीद करते है कि आपको “Rajaji National Park , Haridwar !! (राजाजी राष्ट्रीय पार्क !!)” के बारे में पढ़कर आनंद आया होगा |

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमारे फेसबुक पेज को LIKE और SHARE  जरुर करे |

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त के लिए हमारा YOUTUBE CHANNELजरुर SUBSCRIBE करे |