Top Beautiful Places to visit in Pangot (Nainital , Uttarakhand )!!

0
117
Best Places to visit in Pangot

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Top Places to visit in Pangot Nainital , Uttarakhand

पंगोट, एक पर्यटन स्थल है , जो नैनीताल शहर से 15 किमी की दूरी पर स्थित है।( Places to visit in Pangot Nainital , Uttarakhand )

इस पर्यटन स्थल की ओर जाने वाली सड़क से गुज़रते हुए यात्री नैना पीक, स्नो-पीक और किलबरी का नज़ारा कर सकते हैं।

यह पक्षी प्रेमियों के स्वर्ग के रूप में प्रसिद्ध है क्योंकि लगभग 150 पक्षी प्रजातियाँ यहाँ वास करती हैं।

आमतौर पर यहाँ देखे जाने वाले पक्षियों में ग्रिफॉन, रयुफस बेली वुड-पैकर (कठफोड़वा), नीले पंख वाले मिनला, धब्बेदार और स्लेटी फोर्कटेल, लैमरगेयर्स, रयुफस बेली निलतावास और खलीज़ तीतर शामिल हैं। इस जगह का वातावरण अत्यधिक सुहाना है |

पंगोट में आप ट्रैकिंग , कैम्पिंग , पैराग्लाइडिंग आदि अन्य चीज़ कर सकते है |

पंगोट का मौसम ग्रीष्मकाल में (मार्च-जुलाई) तापमान 25 डिग्री सेल्सियस में सुबह / नॉन से रात 12 डिग्री सेल्सियस तक हो सकता है।

विंटर्स में (दिसंबर-जनवरी) तापमान 18 डिग्री सेल्सियस से सुबह / दोपहर से रात 8 डिग्री सेल्सियस तक होता है।

इस मौसम में आपको एक हलकी जैकेट और एक स्वेटर ले जाने की सिफारिश की जाती है ।

पंगोट में आप हमारे द्वारा निचे बताई जगह में घूम कर पंगोट की सौन्दर्यता और प्राकर्तिक मौसम का लुफ्त उठा सकते है  |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_gallery ids=’119′ style=’big_thumb lightbox_gallery’ preview_size=’portfolio’ crop_big_preview_thumbnail=’avia-gallery-big-crop-thumb’ thumb_size=’portfolio’ columns=’5′ imagelink=’lightbox’ lazyload=’avia_lazyload’ admin_preview_bg=”]

[av_gallery ids=’136′ style=’big_thumb lightbox_gallery’ preview_size=’portfolio’ crop_big_preview_thumbnail=’avia-gallery-big-crop-thumb’ thumb_size=’portfolio’ columns=’5′ imagelink=’lightbox’ lazyload=’avia_lazyload’ admin_preview_bg=”]
[/av_one_half]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Places to visit in Pangot ( Brahmasthali ) ( ब्रह्मस्थली )

यह जगह pangot से 8 km की दुरी पर स्थित है |

आप चाहे तो कार , बाइक से 6 km की दुरी तय कर सकते है |

उसके बाद आपको 2 km पैदल चलकर आप ब्रह्मस्थली पहुच सकते है |

इस जगह का वातावरण अत्यधिक मनमोहक होता है |

ब्रह्मस्थली जगह में पौराणिक कुटियाँ भी स्थित है जहाः आपको बाबा की कुटियाँ के दर्शन भी होंगे |

इस जगह में आपको एक बाबा मिलेंगे जो की बहुत समय से उस स्थान में रह रहे है | बाबा को इस स्थान में रहकर भी बाहरी दुनिया के बारे में भी जानकारी होती है | ब्रह्मस्थाली पंगोट में घूमने लायक बहुत ही बेहतरीन जगह है |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_gallery ids=’138,139,140,141,142,143,144,145,146,147,148,149,150,151,152′ style=’big_thumb lightbox_gallery’ preview_size=’portfolio’ crop_big_preview_thumbnail=’avia-gallery-big-crop-thumb’ thumb_size=’portfolio’ columns=’5′ imagelink=’lightbox’ lazyload=’avia_lazyload’ admin_preview_bg=”]
[/av_one_half]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Places to visit in Pangot ( Nainital ) ( नैनीताल )

सबसे लोकप्रिय और अतिसुंदर पहाड़ी स्टेशन “नैनीताल” उत्तराखंड राज्य में कुमाऊ क्षेत्र में स्थित है।

नैनीताल की खोज सन 1841 में एक अँगरेज़ चीनी व्यपारी ने की , बाद में अंग्रेजो ने इसे आरामगृह और स्वास्थ लाभ लेने की जगह के रूप में स्वीकार लिया | नैनीताल तीनो दिशायो से घने पेड़ो की छाया में ऊँचे ऊँचे पर्वत के बीच समुन्द्रतल से 1938 मीटर की ऊँचाई पर बसा है | नैनीताल के ताल की लम्बाई 1358 मीटर और चौडाई 458 मीटर है और गहराई 15 से 156 मीटर तक नापी गयी है हलाकि इसकी सही जानकारी अभी तक किसी के पास नहीं है |

यह हिलस्टेशन झील के लिए प्रसिद्ध है।

इस जगह में चिड़ियाघर एक बहुत ही महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है|

जहां आपको हिम तेंदुए की दुर्लभ प्रजातियां , स्टेप ईगल और हिमालयियन भालू, शेर आदि की प्रजातीय मिलती है | अपने विशाल उद्यान के साथ राजभवन के गवर्नर हाउस सार्वजनिक खुले रहने के लिए खुले राज्यभावों में से एक है। नैनीताल में बोटिंग , शौपिंग , पिकनिक स्पॉट और रोपवे , ट्रैकिंग और हाईकिंग आदि चीजों का लुफ्त उठा सकते है | नैनीताल में देखने के लिए निम्न जगह है जैसे की नैनी लेक , नैनीताल जू , एरियल रोपवे ,नैना देवी मंदिर , मॉल रोड ,टिफ़िन टॉप , इको केव गार्डन , राज भवन , किल्बरी हिल्स , स्नो view पॉइंट , गर्ने हाउस , नैना पीक , हनुमान गढ़ी , नैना देवी पक्षी संरक्षण आदि |

यदि आप नैनीताल आना चाहते है तो आप Delhi से Kathgodam by Bus , Taxi ,Train , Private Car आदि से आ सकते है | उसके बाद आप Kathgodam से Taxi , Bike , Bus आदि से Nainital जा सकते है |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_gallery ids=’155,156,157,158′ style=’big_thumb lightbox_gallery’ preview_size=’portfolio’ crop_big_preview_thumbnail=’avia-gallery-big-crop-thumb’ thumb_size=’portfolio’ columns=’5′ imagelink=’lightbox’ lazyload=’avia_lazyload’ admin_preview_bg=”]
[/av_one_half]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Places to visit in Pangot ( Gauna Hills ) ( गौणा हिल्स )

ये पहाड़ी पगोट हैंमलेट में स्थित हैं |

इस जगह के बारे में ज्यादातर लोगो ने नहीं सुना होगा |

मगर इस पहाड़ी में आप Walking और Trekking अनेक चीजों का लाभ उठा सकते है | यह जगह हिमालयी वनस्पतियों से भरी हुई है |

यह पहाड़ी पेड़ो जैसे कि ओक, बांबू और देवदार के पेड़ के घने जंगलों से घिरा हुई है | इस जगह का पूरा परिद्रश्य बहुत सुन्दर है |

इस जगह तक पहुंचने के लिए बहुत भयानक है।

यह जगह लैंड एंड की तरह ही है | यहां पहुंचना बहुत ही मुश्किल काम है। इस जगह से नैनीताल का बहुत अच्छा दृश्य दिखाई देता है |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_gallery ids=’154′ style=’big_thumb lightbox_gallery’ preview_size=’portfolio’ crop_big_preview_thumbnail=’avia-gallery-big-crop-thumb’ thumb_size=’portfolio’ columns=’5′ imagelink=’lightbox’ lazyload=’avia_lazyload’ admin_preview_bg=”]
[/av_one_half]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Places to visit in Pangot ( Kunjkharak ) ( कुंजखारक )

कुंजखारक पर्यटन के लिए एक बेहतरीन जगह है | नैनीताल से 37 km की दुरी पर पर स्थित है |

यह जगह हिमालय दृश्य बिंदु है मतलब इस जगह से आप हिमालय के दूर से दर्शन कर सकते है |

खारक का स्थानीय भाषा में मतलब “पास” होता है |

कुंजखारक 2323 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है |

जो राजसी हिमालय रेंज को देखने के लिए सबसे अच्छी जगह बनाती है |

इस जगह से आप पहाड़ों की हिमालय श्रृंखला के एक शानदार 380 किमी दूरदर्शी दृश्य को देख सकते हैं।

कुंजखारक उंच्च लुप्तप्रजाति Khoola (Jhoola) का घर है |

जो की कई कॉस्मेटिक उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है |

Eco-Tourism कुंजखारक का मुख्य आकर्षण है |

Kunjkharak घने ओक, पाइन और देवदार पेड़ के बीच भालू गुफाओं पहाड़ों का पता लगाने के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करता है। पक्षी-देखरेख और ट्रेकिंग पर्यटक की संख्या को आकर्षित करती है | लामरेगीयर, हिमालयान और यूरेशियन ग्रिफ़ोन जैसे उच्च ऊंचाई वाले पक्षी जैसे तावे ईगल, स्टेप ईगल और केस्टल जैसे राप्टर यहां देखे जा सकते है |

कुंजखारक के Forest Rest House में रूककर आप कुंजखारक की सुन्दरता का आनंद ले सकते है |

कुंजखारक को नैनीताल से दो तरफ से पहुंचा जा सकता है।

एक नैनीताल से 18 किमी पंगोट तक कुंजखारक के साथ ट्रेक कर सकता है।

इसके अलावा पर्यटकों को नैनीताल से टैक्सियों को किराए पर लिया जा सकता है।

यदि आप पंगोट आये तो इन सभी आकर्षक जगह भी जरुर घूमे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_gallery ids=’160′ style=’big_thumb lightbox_gallery’ preview_size=’portfolio’ crop_big_preview_thumbnail=’avia-gallery-big-crop-thumb’ thumb_size=’portfolio’ columns=’5′ imagelink=’lightbox’ lazyload=’avia_lazyload’ admin_preview_bg=”]
[/av_one_half]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो “LIKE” और “SHARE” करे |

साथ ही हमारा You Tube Channel भी Subscribe कर ले |
[/av_textblock]

[/av_one_full]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here