Top and Best Tourist Places to Visit in Almora !! (अल्मोड़ा के 10 सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थल !!)

0
103
Almora A Tourist Place in Uttarakhand

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]
[av_heading heading=’Top and Best Tourist Places to Visit in Almora !! (अल्मोड़ा के 10 सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थल !!)’ tag=’h2′ style=’blockquote modern-quote modern-centered’ size=” subheading_active=’subheading_above’ subheading_size=’15’ padding=’10’ color=” custom_font=” admin_preview_bg=”][/av_heading]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
नमस्कार दोस्तों आज हम आपको उत्तराखंड दर्शन की इस पोस्ट में उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले में स्थित 10 प्रसिद्ध एवम् आकर्षक स्थानों अर्थात ( Top 10 Best and Attractive Tourist Places to visit in Uttarakhand !! ) के  बारे में पूरी जानकारी देने वाले है | यदि आप उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले में स्थित 10 प्रसिद्ध एवम् आकर्षक पर्यटन स्थानों के बारे में पूरी जानकारी जानना चाहते है , तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े |
[/av_textblock]
[/av_one_full]

[av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_heading tag=’h2′ padding=’10’ heading=’Almora – Kumaon Hills !!’ color=” style=’blockquote modern-quote modern-centered’ custom_font=” size=” subheading_active=” subheading_size=’15’ custom_class=” admin_preview_bg=”][/av_heading]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
Almora A Tourist Place in Uttarakhandअल्मोड़ा जिला उत्तराखंड के कुमाऊं मण्डल का एक जिला है , जिसका मुख्यालय अल्मोड़ा नगर में है | अल्मोड़ा एक पहाड़ी जिला है जो की घोड़े के खुर के समान रूप में बना हुआ है | अल्मोड़ा जिले का क्षेत्रफल 3072 वर्ग किलोमीटर है | एक कथा के अनुसार कहा जाता है कि अल्मोड़ा की कौशिका देवी ने शुम्भ और निशुम्भ नामक दानवो को इसी क्षेत्र में मारा था | अल्मोड़ा पर पहले चाँद साम्राज्य का अधिकार था फिर कत्यूरी राजवंश का हो गया ।

इसे भी पढ़े :-  History of Almora !! (अल्मोड़ा का इतिहास !!)
[/av_textblock]

[/av_one_full][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/chitai-golu-devta-300×175.png’ attachment=’2993′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Chitai Golu Devta Temple !!

उत्तराखंड को देव भूमि के नाम से भी जाना जाता है , क्योकिं उत्तराखंड में कई देवी देवता वास करते है | जो कि हमारे ईष्ट देवता भी कहलाते है जिसमे से एक है , गोलू देवता | जिला मुख्यालय अल्मोड़ा से आठ किलोमीटर दूर पिथौरागढ़ हाईवे पर न्याय के देवता कहे जाने वाले गोलू देवता का मंदिर स्थित है, इसे चितई ग्वेल भी कहा जाता है | सड़क से चंद कदमों की दूरी पर ही एक ऊंचे तप्पड़ में गोलू देवता का भव्य मंदिर बना हुआ है । उत्तराखंड के देव-दरबार महज देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना, वरदान के लिए ही नहीं अपितु न्याय के लिए भी जाने जाते हैं | यह मंदिर कुमाऊं क्षेत्र के पौराणिक भगवान और शिव के अवतार गोलू देवता को समिर्पत है ।

यदि आप अल्मोड़ा जिले में यात्रा करने के लिए आते है तो चितई गोलू देवता मंदिर
के दर्शन जरुर करे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/Jageshwer-Temple-Almora-300×175.png’ attachment=’2997′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Jageshwer Temple !!

उत्तराखंड के प्रमुख देवस्थालो में “जागेश्वर धाम या मंदिर” एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थान है | यह उत्तराखंड का सबसे बड़ा मंदिर समूह है | यह कुमाउं मंडल के अल्मोड़ा जिले से 38 किलोमीटर की दुरी पर देवदार के जंगलो के बीच में स्थित है | जागेश्वर को उत्तराखंड का “पाँचवा धाम” भी कहा जाता है | जागेश्वर मंदिर में 125 मंदिरों का समूह है | जिसमे 4-5 मंदिर प्रमुख है जिनमे विधि के अनुसार पूजा होती है | जागेश्वर मंदिर अपनी वास्तुकला के लिए काफी विख्यात है । प्राचीन मान्यता के अनुसार जागेश्वर धाम भगवान शिव की तपस्थली है | हर वर्ष श्रावण मास में पूरे महीने जागेश्वर धाम में पर्व चलता है । पूरे देश से श्रद्धालु इस धाम के दर्शन के लिए आते है |

यदि आप अल्मोड़ा जिले में यात्रा करने के लिए आते है तो जागेश्वर मंदिर के दर्शन भी जरुर करे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/Bright-End-Corner-300×175.png’ attachment=’2992′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Bright End Corner

Bright End Corner उत्तराखंड के सुशोभित अल्मोड़ा जिले से 2 किमी की दूरी पर स्थित एक सुंदर जगह है । Bright End Corner से पर्यटक सूर्यास्त और सूर्योदय के खूबसूरत नजारे का लुत्फ उठा सकते हैं । इस प्राकृतिक स्वर्ग में शाम के समय प्रक्रति का बेहतरीन यादगार दृश्य , भोर को खेलते हुए और हिमाच्छन्न चोटियों का दृश्य मन को मोह लेता हैं । यह पर्यटन स्थल अल्मोड़ा रिज के अंत में स्थित है , जिससे मनुष्यों को शक्तिशाली हिमालयों के पैनोरमा में देखा जा सकता है । यह सुंदर जगह Mr. Brighton के नाम पर रखी गयी है | इस स्थान से अल्मोड़ा के मॉल रोड की शुरुआत की रूपरेखा आरम्भ होती हैं | इस खूबसूरत स्थान के अल्वा अन्य आसपास के स्थानों पर भी जाना चाहिए , जिनमें श्री रामकृष्ण कुटीर आश्रम, विवेकानंद पुस्तकालय और विवेकानंद स्मारक शामिल हैं ।
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/gobind-ballabh-pant-museum-300×175.png’ attachment=’2996′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Pandit Govind Ballabh Pant Museum!!

पंडित गोविंद बल्लभ पंत संग्रहालय अल्मोड़ा शहर में मॉल रोड पर स्थित है। यह संग्रहालय 1 9 80 में महान के उल्लेखनीय प्रयासों का सम्मान करने के लिए बनाया गया था | उत्तराखंड विकास में स्वतंत्रता सेनानी पंडित गोविंद बल्लभ पंत। इस संग्रहालय में कातियुरी और चंद राजवंश के शासकों से संबंधित प्राचीन वस्तुओं का एक अनूठा संग्रह है। इस संग्रहालय में एक प्रभावशाली संग्रह है , जिसे प्राचीन कुमानी शैली चित्रों को “एपान” कहा जाता है। इसके अलावा, एक प्रभावशाली कला, शिल्प, वस्त्र, बोशी सेना की व्यक्तिगत संग्रह लघु चित्रकारी, लकड़ी के काम, टेराकोटा मूर्तियां, सिक्के, कांस्य वस्तुएं, संगीत वाद्ययंत्र, हाथीदांत तांबा प्लेट, पांडुलिपियां और कई अन्य चीजें देख सकते हैं। इस स्थल में आके आपको गोबिंद बल्लभ पन्त जी के बारे में अत्यधिक जानकारी मिल सकती हैं |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/Kasar-Devi-Temple-300×175.png’ attachment=’2998′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Kasar Devi temple !!

उत्तराखंड राज्य अल्मोड़ा जिले के निकट “कसार देवी” एक गाँव है | जो अल्मोड़ा क्षेत्र से 8 km की दुरी पर काषय (कश्यप) पर्वत में स्थित है | यह मंदिर हवाबाघ की सुरम्य घाटी में स्थित है । यह स्थान “कसार देवी मंदिर” के कारण प्रसिद्ध है | यह मंदिर, दूसरी शताब्दी के समय का है । उत्तराखंड के अल्मोडा जिले में मौजूद माँ कसार देवी की शक्तियों का एहसास इस स्थान के कड़-कड़ में होता है | अल्मोड़ा बागेश्वर हाईवे पर “कसार” नामक गांव में स्थित ये मंदिर कश्यप पहाड़ी की चोटी पर एक गुफानुमा जगह पर बना हुआ है | कसार देवी मंदिर में माँ दुर्गा साक्षात प्रकट हुयी थी | मंदिर में माँ दुर्गा के आठ रूपों में से एक रूप “देवी कात्यायनी” की पूजा की जाती है |

यदि आप अल्मोड़ा जिले में यात्रा करने के लिए आते है तो कसार देवी मंदिर के दर्शन भी जरुर करे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/doonagiri-temple-300×175.png’ attachment=’2995′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Doonagiri Temple !!

उत्तराखंड जिले में बहुत पौराणिक और सिद्ध शक्तिपीठ है | उन्ही शक्तिपीठ में से एक है द्रोणागिरी वैष्णवी शक्तिपीठ | वैष्णो देवी के बाद उत्तराखंड के कुमाऊं में “दूनागिरि” दूसरी वैष्णो शक्तिपीठ है | उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट क्षेत्र से 15 km आगे माँ दूनागिरी माता का मंदिर अपार आस्था और श्रधा का केंद्र है | कत्यूरी शासक सुधारदेव ने 1318 ईसवी में मंदिर निर्माण कर दुर्गा मूर्ति स्थापित की । इतना ही नहीं मंदिर में शिव व पार्वती की मूर्तियाँ विराजमान है । देवी पुराण के अनुसार अज्ञातवास के दौरान पांडव ने युद्ध में विजय तथा द्रोपती ने सतीत्व की रक्षा के लिए दूनागिरी की दुर्गा रुप में पूजा की । इस भव्य मंदिर के दर्शन करने के लिए करीब 500 सीढ़ियां चढ़नी होती है |

यदि आप अल्मोड़ा जिले में यात्रा करने के लिए आते है तो दूनागिरी मंदिर के दर्शन भी जरुर करे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/deer-park-in-almora-300×175.png’ attachment=’2994′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Deer Park , Almora !!

अल्मोड़ा से 3 किमी की दूरी पर स्थित , हिरण पार्क अल्मोड़ा के प्रमुख आकर्षणों में से एक है । पार्क में कई पाइन पेड़ हैं , जो इस जगह की समृद्ध प्राकृतिक सुंदरता में शामिल हैं । आसपास के आकर्षण के मन को मोहने वाली सुंदरता वास्तव में बेजोड़ है । पूरी दुनिया से पर्यटक हिरण , तेंदुए और हिमालयी काले भालू जैसे लुप्तप्राय प्रजातियों को देखने के लिए पार्क में आते है । अल्मोड़ा में स्थित हिरण-पार्क उन लोगों के लिए एक आदर्श स्थान है , जो प्राकृतिक सौंदर्यता और शांति के बीच टहलने की इच्छा रखते हैं । वन्यजीव प्रेमियों को अल्मोड़ा में स्थित हिरण-पार्क अभ्यारण के आकर्षण का दौरा करना चाहिए क्योंकि इसमें दुर्लभ प्रजातियों का विस्तृत संग्रह है ।
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/Zero-point-ALmora-300×175.png’ attachment=’3001′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Zero Point !!

Zero Point एक टावर है , जिसे बिन्सर वन्यजीव अभयारण्य के केंद्र में दिल में बनाया गया है । Zero Point बिंसर में मौजूद है , जो कि उउत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले से थोड़ी दूरी पर स्थित है और यह स्थान जमीन के स्तर से लगभग 2400 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद है । यह स्थान वाहनों द्वारा उपलब्ध नहीं है और केवल पार्किंग स्थल से 2 किलोमीटर लंबी ट्रेकिंग ट्रेल करके इस स्थान तक पहुंचा जा सकता है । इस क्षेत्र को पूरे देश में व्यापक रूप से मशहूर विचार के लिए प्रसिद्ध किया गया है । इस स्थान से हिमालय (नंदा देवी, केदारनाथ इत्यादि के पर्वत शिखर) के शुद्ध सफेद पहाड़ों के शानदार दृश्य को देखने के लिए पर्यटक और स्थानीय लोग Zero Point पर आते हैं ।

[/av_textblock]

[/av_one_half][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_half first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/Nanda-Devi-Temple-300×175.png’ attachment=’3000′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Nanda Devi Temple !!

कुमाऊं क्षेत्र के उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले के पवित्र स्थलों में से एक “नंदा देवी मंदिर” का विशेष धार्मिक महत्व है । इस मंदिर में “देवी दुर्गा” का अवतार विराजमान है | समुन्द्रतल से 7816 मीटर की ऊँचाई पर स्थित यह मंदिर चंद वंश की “ईष्ट देवी” माँ नंदा देवी को समर्पित है | नंदा देवी माँ दुर्गा का अवतार और भगवान शंकर की पत्नी है और पर्वतीय आँचल की मुख्य देवी के रूप में पूजी जाती है | अल्मोड़ा में मां नंदा की पूजा-अर्चना तारा शक्ति के रूप में तांत्रिक विधि से करने की परंपरा है । मानसखण्ड में स्पष्ट उल्लेख किया गया है कि मां नंदा के दर्शन मात्र से ही मनुष्य ऐश्वर्य को प्राप्त करता है तथा सुख-शांति का अनुभव करता है |

यदि आप अल्मोड़ा जिले में यात्रा करने के लिए आते है तो नंदा देवी मंदिर के दर्शन भी जरुर करे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_one_half min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_image src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2018/04/katarmal-sun-Temple-300×175.png’ attachment=’2999′ attachment_size=’medium’ align=’center’ styling=” hover=’av-hover-grow’ link=” target=” caption=” font_size=” appearance=” overlay_opacity=’0.4′ overlay_color=’#000000′ overlay_text_color=’#ffffff’ animation=’no-animation’ admin_preview_bg=”][/av_image]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]

Katarmal Surya Temple !!

कटारमल सूर्य मंदिर उत्तराखंड राज्य में अल्मोड़ा जिले के “कटारमल” नामक स्थान पर स्थित है | इसी कारण इस मंदिर को “कटारमल सूर्य मंदिर” कहा जाता है | यह मंदिर 800 वर्ष पुराना एवम् अल्मोड़ा नगर से लगभग 17 किमी की दुरी पर पश्चिम की ओर स्थित उत्तराखंड शैली से बना है एवम् यह मंदिर समुन्द्रतल से 2,116 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है | कटारमल सूर्य मंदिर ना सिर्फ पुरे कुमाउं मंडल का सबसे विशाल , ऊँचा और अनूठा मंदिर है , बल्कि ओडिशा के “कोणार्क सूर्य मंदिर” के बाद एकमात्र प्राचीन सूर्य मंदिर भी है | यह मंदिर “बड़ादित्य” के नाम से भी जाना जाता है | यहाँ पर विभिन्न समूहों में बसे छोटे-छोटे मंदिरों के 50 समूह हैं |

यदि आप अल्मोड़ा जिले में यात्रा करने के लिए आते है तो कटारमल सूर्य मंदिर के दर्शन भी जरुर करे |
[/av_textblock]

[/av_one_half][av_hr class=’default’ height=’50’ shadow=’no-shadow’ position=’center’ custom_border=’av-border-thin’ custom_width=’50px’ custom_border_color=” custom_margin_top=’30px’ custom_margin_bottom=’30px’ icon_select=’yes’ custom_icon_color=” icon=’ue808′]

[av_one_full first min_height=” vertical_alignment=” space=” custom_margin=” margin=’0px’ padding=’0px’ border=” border_color=” radius=’0px’ background_color=” src=” background_position=’top left’ background_repeat=’no-repeat’ animation=” mobile_display=”]

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
इन सभी स्थानों के अलावा सिमतोला और मरतोला पिकनिक मनाने के लिए एक आदर्श जगह है । अल्मोड़ा का मुख्य बाजार लाला बाजार, मल्ली बाजार, करखाना बाजार और थाना बाज़ार हैं । आप इस बाज़ार से स्थानीय बर्तन, कपड़े और अन्य चीजें खरीद सकते हैं | इन बाजारों में आपकी आवश्यकता की सारी वस्तुए मिल जायेगी |

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


उम्मीद करते है कि आपको “Top and Best Tourist Places to Visit in Almora !! (अल्मोड़ा के 10 सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थल !!)” के बारे में पढ़कर आनंद आया होगा |

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमारे फेसबुक पेज को LIKE और SHARE  जरुर करे |

उत्तराखंड के विभिन्न स्थल एवम् स्थान का इतिहास एवम् संस्कृति आदि के बारे मे जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारा YOUTUBE  CHANNEL जरुर   SUBSCRIBE करे |
[/av_textblock]

[/av_one_full]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here