पहाड़ी समाचार : ‘मधु न्याय पंचायत क्षेत्र’ आब हर जील्ल में होल

0
15

[av_textblock size=” font_color=” color=” admin_preview_bg=”]
‘मधु न्याय पंचायत क्षेत्र’ आब हर जील्ल में होल
राज्य व्यूरो , देहरादून : किसानोंक आय दोगुना करनेक कोशिश में जुटी रे प्रदेशक सरकार आब उद्यान विभागक माध्यम भे शहद उत्पादनक क्षेत्र ठुल कदम उठुन जमरो | येक तहत प्रत्येक जील्लक एक-एक न्याय पंचायत में मौनपालनक क्लस्टर आधार में बढावा दिनीते ‘मधु न्याय पंचायतक’ तौर में विकसित करी जाल | कृषि और उद्यान मंत्री सुबोध उनियालेली अधिकारियोक न्याय पंचायतोक चयन फटाफट करनक निर्देश दी खरान |
प्रदेश में अयेल करीब 1600 मीट्रिक टन शहदक उत्पादन हूँ | इम्मे करीब 300 मीट्रिक टन देशी आजी शेष यूरोपियन मधुमक्खियाँ भे मिलु | मैदानी आजी पर्वतीय स्वरूप वाल उत्तराखंड में उत्पादित शहदक भली मांग छू विशेषकर पहाड़ में उत्पादित हुनी वाल शहदक | चम्पावत जील्ल में तो मौनपालनक जरिये शहदक ठीकठाक कारोबार छू हालाँकि, पर्वतीय जाग में , मगर व्यावसायिक दृष्टिकोण भे य आकार ने ले पामरो |
एसे देखते ही सरकारेली आब मौनपालनक बढ़ावा देभेर शहद उत्पादन के किसानोंक आयक जरिया बनुनेक ठान खरी | कृषि आजी उद्यान मंत्री सुबोध उनियालक अनुसार पेली चरण में सप्पे 13 जील्ल में एक – एक न्याय पंचायत में वृहद पैमाने में मौनपालनक बढ़ावा दीई जाल | जाहिर छू इम्मे शहदक उत्पादन बडल आजी किसनोक लिजी अतिरिक्त आय होली | यो बार अधिकारियोंक केए कार्ययोजना जल्द तैयार करनते कई ग्यो उनील क की मधु न्याय पंचायतक चयन में उ न्याय पंचायतोक प्राथमिक दे दी जाल जां आइएमए विलेज योजना में आच्छादित गावं छीन |
कैबिनेट मंत्री उनियालेली क की शहद उत्पादन जैविक मोड में होल | जैविक शहदक मांग ज्याद छी | उनील क की शहद उत्पादनक लिजी बड़ी पैमान में मौनपालन भे फसलक पैदावार बडूनेक में ले मदद मिली | वजह यो छी की परागण में मधुमक्खी मुख्य भूमिका निभा |
फसल पैदावार बड़ेली जबत येक फेद ले किसानेक होली उनील बता की शहदक विपणनक व्यवस्था ले की जाल |
[/av_textblock]

[av_image_hotspot src=’http://www.uttarakhanddarshan.in/wp-content/uploads/2020/09/bb-300×161.png’ attachment=’6420′ attachment_size=’medium’ animation=’no-animation’ hotspot_layout=’numbered’ hotspot_tooltip_display=” hotspot_mobile=’aviaTBhotspot_mobile’]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here