पहाड़ी समाचार उत्तराखंड भे वापिस लौट ग्यान 29 फीसद लोग

0
57

उत्तराखंड भे वापिस लौट ग्यान 29 फीसद लोग

     मुख्य मंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावतेल क की प्रवासियों के मिलोल रोजगार

राज्य व्यूरो देहरादून : करोना संकटक चलते विभिन्न राज्यों भे उत्तराखंड लौटी प्रवासियों में भे 29 फीसद वापस लौट ग्यान | इम्मे कई मनख राज्यक भीतर ही अन्य जिलों में जारान | जबकी अन्य राज्य भे बाहर | शेष 71 फीसद अफुड़ मूल निवास या फिर उनोर नजदीक क्षेत्रों में मौजूद छू | पलायन आयोगक ओर भे वापस लौटी प्रवासियोंक आजीविका क मुख्यस्रोत और यो सम्बन्ध में सिफारिशों के ले भेरन तैयार रिपोर्ट में यो जानकारी देइ ग्ये की | सोमवार के सचिवालय में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावतेल येक विमोचन करनक दगाड- दगाड ही इम्मे सुझाव गई बिन्दुवो में चर्चा करी | यो मौके में मुख्यमंत्री क की प्रवासियों के स्वरोजगार उ रोजगार क अवसर उपलब्ध करुनक लिजी विभागीय सचिवों के जिम्मेदारी सौपी गे | उनींछे य कार्य मिशन मोड़ में संचालित करनक निर्देश देइ ग्यान | पलायन आयोग क रिपोर्ट क मुताबिक वर्तमान में राज्य में वापस लौटी जो प्रवासी रे ग्यान , उनिन्मे आजीविका क लिजी 33 फीसद कृषि-बागवानी , पशुपालन , 38 फीसद मनरेगा , 12  फीसद स्वरोजगार और 17 फीसद अन्य स्रोत में निर्भर छू | आयोग क उपाध्यक्ष डा.एसएस नेगी ल मुख्यमंत्री के बता की अल्मोड़ा जील्ल में वापस लौटी 39 फीसद प्रवासी स्वरोजगार करमान जो अन्य जिल्लो भे काफी अधिक छू | नैनीताल , उधमसिंहनगर उ टिहरी क प्रवासी ले स्वरोजगार में अफुड निर्भरता दिखूमान | उनील बता की नैनीताल में 59 फीसद , पिथौरागढ़ में 57 बागेश्वर में 53 , चम्पावत में 40 , उत्तरकाशी में 45  फीसद प्रवासी कृषि , बागवानी उ पशुपालन और हरिद्वार में 75 फीसद , पौड़ी में 53 फीसद टिहरी में 51 फीसद , और चमोली में 43  फीसद प्रवासी मनरेगा में आजीविका क लिजी निर्भर छू | रिपोर्ट में आयोगेल राज्य उ जिला स्तर में प्रवासियों क आर्थिक पुनर्वास क लिजी प्रभावी सेल गठित करनेते और उनोर अनुभवों व जरूरतों क डाटा बेस तैयार करनक सुझाव दे खरी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here